Dipal Maru Pictures, Images

Sachcha Dost

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Kya Chahiye In Bachcho ko? ROTI

Pls…Help Poor People’s….frnds…. 🙂
Don’t Waste Food….
मैँ रोटी हूँ….
कहीँ गोल….कहीँ चौकोर….
मेरे ही पहिये पर चढकर….
इन्सान पूरा करता जिंन्दगी का सफर…..
मैँ बना देती हूँ आदमी को क्या से क्या….
कभी मदारी….कभी शिकारी….
चल जाता है शोलोँ पर….
बैठ जाता है….बर्फ के गोलोँ पर….
मैँ बङी किस्मत से मयस्सर होती हूँ….
अमीरोँ की महफिल मेँ….
मेरा जायका है थोङा कम….पर….
” गरीब ” का है मेरे दम से दम….
मेरे लिए इन्सान कुछ भी कर सकता है….
चोरी…डकैती से भी…न उसको गुरेज हो सकता है….
मैँ अमीर – गरीब दोनोँ को प्रिय होती हूँ …..
सुन लो….
ऐ मेरा अपमान करने वालो….
फाकोँ की आमद को दावत देने वालो…..
आज मगरूर हो अपना पेट भर….
जरा देखो झोँपङियोँ मेँ चलकर…..
मेरे एक टुकङे के कई तलबगार हैँ….
इस मुल्क मे लाखोँ भुखमरी के शिकार हैँ….
मैँ सबसे सम्मान की हकदार होती हूँ….
जब आदमी मुझसे छक जाता है….
सिर्फ तभी ही….सोच सकता है….
आजादी के बारे मेँ…..
अधिकारोँ के बारे मेँ….
आविष्कारोँ के बारे मेँ…..
आत्मा के बारे मेँ….
परमात्मा के बारे मेँ……
कभी कभी मेँ इश्वर से भारी होती हूँ….
क्योंकि….मैँ रोटी हूँ…. 🙂

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Meri Takdir Buland Hai

Pls…Must Read…frnds….
ख़ुशी मिली तो खा गये मिठाई समझ के….
जो ग़म मिला…तो खा गये दवाई समझ के….
किया दोस्तों को माफ़…हरजाई समझ के….
दुश्मनों को भी दी माफ़ी…छोटा भाई समझ के….
कामयाबी को काटा…बधाई समझ के….
बुरे वक़्त को काटा…कसाई समझ के….
अच्छे वक़्त को निभाया…शहनाई समझ के….
मुसीबतों को भी निभाया…बूढी माई समझ के….
मिली दाद तो भुला दिया…बढाई समझ के….
लगे इल्जामो को भी भुला दिया…बुराई समझ के….
जिंदगी को चख लिया….मलाई समझ के….
मौत को भी कभी चख लेंगे…रिहाई समझ के….
मैं वाकिफ था…जिंदगी के सभी नतीज़ो से….
पर सारे इम्तहान दिए…और अभी दे भी रहा हु….पढाई समझ के….
दोस्तो….
कौन पूरी तरह काबिल है….
कौन पूरी तरह पूरा है….
हर एक शक्स कहीं न कहीं से….
थोड़ा सा अधूरा है….its True….
Life Is Precious….Njoyy Evry Moment…
Keep Smiling….Njoyy Life…. 🙂

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Gnyan Dhan Se Uttam Hai

आज के युग की दास्ताँ….जरूर पढे…. 🙂

बडे बडे घर तो होते है….
लेकिन परिवार के लोग साथ नही होते….

ज्यादा पढाई तो बहोत करते है….
लेकिन तमीज नही होती….

महंगी से महंगी दवाई मिलती है….
लेकिन सेहत ठीक नही होती….

चांद को छूना चाहते है….
लेकिन अपनों का ख्याल नही….

आमदनी तो बहोत होती है….
लेकिन सुकून नही होता….

बौद्धिक स्तर बहोत ऊचाँ रखते है….
लेकिन भावनाओं को नही समझते….

ज्ञान भी अच्छा होता है….
लेकिन अक्ल नही होती….

प्रेम संबंध तो बहोत रखते है….
लेकिन सच्चा प्यार नही करते….

फेसबुक के दोस्त बहोत होते है….
लेकिन सच्चे दोस्त नही मिलते….

घड़ीयाँ भी महंगी पहनते है….
लेकिन समय नही देते….

केहने को इन्सान तो बहोत है….
लेकिन इन्सानियत नही होती….

ताउम्र….बस एक ही सबक याद रखिये….
परिवार , दोस्ती और इबादत में नीयत हमेशा साफ़ रखिये….
क्योंकि….
कोई वकालत नही चलती….
जब कोई फैसला….
आसमान से उतरता है….

Keep Helping Poor People’s….
Be Happy Always….
Keep Smiling….Njoyy Life…. 🙂

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Sirf Dikhave Ke Liye Achha Banna Bura Hai

Pls…Must Read…frnds…. 🙂

झाँक रहे हैं इधर – उधर सब….
अब अपने अंदर झाँके कौन….

ढूँढ रहे हैं दुनियाँ में कमी….
अब अपने मन में ताके कौन….

यूँ तो सबके भीतर दर्द छुपा है….
अपने ही मन को ललकारे कौन….

दुनियाँ सुधारो सब चिल्लाते हैं….
खुद को लेकिन सुधारे कौन….

खुद सुधरो तो जग भी सुधरेगा….
इतनी सी बात मन में उतारे कौन….

मानो तो सबके भीतर ईश्वर बसा है….
पर निश्छलता से उसे पुकारे कौन….
दोस्तो….
मिलती है मौजूदगी ईश्वर की सिर्फ उसीको….
जिसने जर्रे जर्रे में….क़तरे क़तरे में तलाशा है उसको….

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums
Page 1 of 1312345Last »