Barish Shayari Pictures, Graphics & Messages For Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram

Dharti Se Savan Ki Bunde Milne Jab Aati Hai

धरती से सावन की बूंदें मिलने जब भी आती हैं,
उसकी शिकायत करती हैं कुछ अपना दर्द सुनाती हैं.
कुछ रिश्ते नए बनती एहसास नये दे जाती हैं,
हर एक कली को फूल बाग़ को गुलशन कर जाती हैं.
चाहत नयी सी होती है अरमान नये दे जाती हैं,
कुछ ख़ुशी के पल कुछ मुस्कान नयी दे जाती हैं. 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Dil Baha Le Gaya Barsat Ka Pahla Pani

किसने भीगे हुए बालों से ये झटका पानी,
झूम के आई घटा टूट के बरसा पानी.
कोई मतवाली घटा पिके जवानी की उमंग,
दिल बहा ले गया बरसात का पहला पानी. 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Bin Badal Barasat Nahi Hoti

बिन बादल बरसात नहीं होती,
सूरज डूबे बिना रात नहीं होती,
अब कुछ ऐसे हालात हैं हमारे की,
आपको देखे बगैर दिन की शुरुआत नहीं होती. 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Aye Barish Jara Tham Ke Baras

ए बारिश
ज़रा थम के बरस,
जब मेरा यार आ जाये
तो जम के बरस, पहले ना बरस
की वो आ ना सके, फिर इतना बरस की
वो जा ना सके. 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Mousam hai barish ka Aur yaad tumhari aati hai

मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है,
बारिश के हर क़तरे से आवाज़ तुम्हारी आती है.
बादल जब गरजते हैं, दिल की धरकन बढ़ जाती है,
दिल की हर एक धड़कन से आवाज़ तुम्हारी आती है.
जब तेज़ हवाएं चलती है तो जान हमारी जाती है,
मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है. 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Barsat ki bhigi rato me fir koi suhani yaad aayi

बरसात की भीगी रातों में फिर कोई सुहानी याद आई,
कुछ अपना जमाना याद आया,
कुछ उनकी जवानी याद आई,
हम भूल चुके थे जिसने हमें दुनिया में अकेला छोड़ दिया,
जब गौर किया तो एक सूरत जानी पहचानी याद आई. 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Ek Barish hi thi, jo humare sath roti rahi

खयालों में वही, सपनो में वही,
लेकिन उनकी यादों में हम थे ही नहीं,
हम जागते रहे दुनिया सोती रही,
एक बारिश ही थी, जो हमारे साथ रोती रही. 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Page 1 of 212