Krishna Janmashtami SMS Collection for Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram & Other Social Sites.

Dahi Handi Message In Hindi

दही हांडी शुभ कामना संदेश

बाल रूप है सब को भाता माखन चोर वो कहलाया है
आला आला गोविंदा आला बाल ग्वालों ने शोर मचाया है
झूम उठे हैं सब ख़ुशी में, देखो मुरली वाला आया है
आप सभी को कृष्णा जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई

बचपन में बड़े नटखट, जो चुराए मिश्री और माखन
ऐसे भगवान को मेरे सच्चे दिल से नमन
जन्माष्टमी की शुभकामनाये

माखन खावे, शोर मचावे,
गोपियों के संग रास रचावे।
मुरली बजाके मन हर्षाये,
मेरो नटखट नन्द गोपाल।
हैप्पी श्री कृष्ण जन्माष्टमी।

मटकी तोड़े, माखन खाए फिर भी सबके मन को भाये,
राधा के वो प्यारे मोहन,महिमा उनकी दुनिया गाये।

माखन का कटोरा
मिश्री का थाल
मिट्टी की खुशबू
बारिश की फुहार
राधा की उम्मीद
कन्हैया का प्यार
मुबारक हो आपको
जन्माष्टमी का त्यौहार

राधा की भक्ति, मुरली की मिठास
माखन का स्वाद और गोपियों का रास
सब मिलके बनाता हैं जन्माष्टमी का दिन ख़ास

माखन चुराकर जिसने खाया,
बंसी बजाकर जिसने नचाया,
ख़ुशी मनाओ उनके जन्म दिन की,
जिन्होंने दुनिया को प्रेम का रास्ता दिखाया.

माखन चोर नन्द किशोर,
बांधी जिसने प्रीत की डोर.
हरे कृष्ण हरे मुरारी,
पूजती जिन्हें दुनिया सारी,
आओ उनके गुण गाएं सब मिल के जन्माष्टमी मनाये.

दही की हांडी, बारिश की फुहार, माखन चुराने आए नंदलाल, मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्योहार दही हांडी की शुभकामनाएं।

Contributor:

Krishna Janmashtami Hindi Kavita

कृष्ण जन्माष्टमी कविता

बांके बिहारी ब्रज त्रिपुरारी ब्रह्माण्ड मुरारी आयेंगे
गर दिल कभी लगे भटकने अम्बरीष अवनि छायेंगे|
गोकुल कदम्ब की डाली छवि दर्पण साज सजायेंगे
बांके बिहारी ब्रज त्रिपुरारी ब्रह्माण्ड मुरारी आयेंगे ||

तान निराली वंशी धुन में मुरलीधर राग सुनायेंगे
दूध मलाई माखन मिसरी कंहैया जी भोग लगायेंगे |
द्रोपदी की लाज बचाने कृष्ण कन्हैया जी आयेंगे
बांके बिहारी ब्रज त्रिपुरारी ब्रह्माण्ड मुरारी आयेंगे ||

सुदामा से प्रेम निभाने नन्द जी के धर पर आयेंगे
अर्जुन का सारथी बनकर मित्रता संकल्प दिखाएँगे|
आलस्य त्याग का पाठ पढ़ाने जन्मास्टमी आयेगी
बांके बिहारी ब्रज त्रिपुरारी ब्रह्माण्ड मुरारी आयेंगे | |
– सुख मंगल सिंह

जब तुम्हारा जन्म हुआ,
बिजली ने कड़क कर रोशनी दिखाई ।
बादलों ने बरस कर फूल बरसाए,
बोलो हर हर मुरारी ।।

आंधियों में भी किया स्वागत तुम्हारा,
तूफानों ने रुख मोड़ लिया ।
बादलों ने अलग धुन बजाई,
तब जन्म हुआ तुम्हारा
बोलो हर हर मुरारी ।।

धरती पर जब तुमने नया अवतार लिया,
सब ताले टूट गए ।
जब जन्म हुआ तुम्हारा,
बोलो हर हर मुरारी ।।

मां देवकी की कोख का अभिमान हो तुम,
मां यशोदा की जान हो तुम ।
ब्रज की शान हो तुम,
नाम अनेक लेकिन एक हो तुम ।।

मजधार में फंसे नाविक की पतवार हो तुम,
कंस को मारने वाले वीर हो तुम ।
कालिया नाग को धूल चटाने वाले,
हे कृष्ण मुरारी, जय जयकार हो तुम्हारी ।।

बोलो हर हर मुरारी
– नरेंद्र वर्मा

बाल घुंघराले तुम्हारे,
सर पर ताज निराला ।
मनमोहक मुस्कान तुम्हारी,
ओ कृष्ण मुरारी ।।

नटखट तुम, नखराले तुम,
न्याय प्रिय तुम, वरदानी तुम ।
भटके हुए को राह दिखाने वाले,
ओ मेरे प्यारे कृष्ण मुरारी ।।

जब बजाते हो तुम बंसी,
तब झूम उठता है धरा का हर एक वासी ।
तुम नटखट हो लेकिन प्यार का समंदर हो,
ओ मेरे प्यारे कृष्ण मुरारी ।।

जीवन की डोर तुम्हारे हाथों में,
पल भर में बनाते हो रंक से राजा ।
खुशियों की बौछार हो तुम,
ओ मेरे प्यारे कृष्ण मुरारी ।।

सबसे बड़े दानी हो तुम,
तीनो लोक के राजा हो तुम ।
सबसे बड़े ज्ञानी हो तुम,
ओ मेरे प्यारे कृष्ण मुरारी ।।

– नरेंद्र वर्मा

जब तुम बजाते हो बंसी,
बहती है राग की रसधारा ।
जग झूम उठता है,
ओ मेरे बाल गोपाला ।।

सांवला है रूप तुम्हारा,
देखो तो नजर नहीं हटती ।
बस आंखों के आगे हर दम तस्वीर तुम्हारी,
ओ मेरे बाल गोपाला ।।

माखन चुराने की कला निराली,
मुकुट पर मोर पंख निराला ।
तू सब का है दुलारा,
ओ मेरे बाल गोपाला ।।

धन्य है देवकी मां जिसने तुम्हें जन्म दिया है,
धन्य है यशोदा मां जिसने तुम्हें पाला ।
अजब लीला है तुम्हारी,
ओ मेरे बाल गोपाला ।।

कण-कण में तुम बसे हो,
सबके दिल की धड़कन हो तुम ।
आंखों का तारा हो तुम,
ओ मेरे बाल गोपाला ।।
– नरेंद्र वर्मा

ब्रज का है तू वासी,
मनमोहन नाम तुम्हारा ।
मां यशोदा का दुलारा,
हम सबको प्यारा कृष्णा हमारा ।।

माखन चोर तू कहलाता है,
नटखट अदाओं से सबका दिल जीत लेता ।
बांसुरी बजा सबका मन मोह लेता,
हम सबका प्यारा कृष्णा हमारा ।।

आंखे तेरी समुंदर से भी गहरी,
तेरी मूर्त सबको प्यारी ।
तीनो लोक का राजा कहलाता,
हम सबका प्यारा कृष्णा हमारा ।।

तेरी सांवली सूरत सबको भाती,
एक नजर में दिल में बस जाता ।
तेरी मुस्कान सबका मन मोह लेती,
हम सबका प्यारा कृष्णा हमारा ।।

तू सबसे बड़ा दानवीर कहलाता,
मित्रता तेरी सबसे निराली ।
गोवर्धन पर्वत को उठा कर सब की जान बचाई,
हम सबका प्यारा कृष्णा हमारा ।।
– नरेंद्र वर्मा

Contributor:

Krishna Janmashtami Shayari

कृष्ण जन्माष्टमी शायरी

भादों का महीना है अष्टमी की रात आई
जग का उद्धार करने जन्में हैं कृष्णा कन्हाई।

माखन चोर नन्द किशोर,
बांधी जिसने प्रीत की डोर.
हरे कृष्ण हरे मुरारी,
पूजती जिन्हें दुनिया सारी,
आओ उनके गुण गाएं सब मिल के जन्माष्टमी मनाये.

बांके बिहारी का नाम लो सहारा मिलेगा,
ये जीवन न तुमको दुबारा मिलेगा,
डूब रही अगर कश्ती मझधार में,
कृष्णा के नाम से सहारा मिलेगा.

गोकुल में जो करें निवास,
गोपियों संग जो रचाएँ रास,
देवकी-यशोदा हैं जिनकी मैया,
ऐसे ही हमारे कृष्ण कन्हैया.
जय श्री कृष्ण

मुरली मनोहर कृष्ण कन्हैया,
जमुना के तट पे विराजे हैं,
मोर मुकुट पर कानों में कुंडल,
कर में मुरलिया साजे हैं…

माखन चुराकर जिसने खाया,
बंसी बजाकर जिसने नचाया,
ख़ुशी मनाओ उनके जन्म दिन की,
जिन्होंने दुनिया को प्रेम का रास्ता दिखाया.

चंदन की ख़ुशबू को रेशम का हार,
सावन की सुगंध और बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीद को कन्हैया का प्यार,
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार

माखन चुराकर जिसने खाया
बंसी बजाकर जिसने नचाया
ख़ुशी मनाओ उनके जन्म दिन की
जिन्होंने दुनिया को प्रेम का रास्ता दिखाया

राधा की भक्ति, मुरली की मिठास
माखन का स्वाद और गोपियों का रास
सब मिलके बनाता हैं जन्माष्टमी का दिन ख़ास

माखन का कटोरा
मिश्री का थाल
मिट्टी की खुशबू
बारिश की फुहार
राधा की उम्मीद
कन्हैया का प्यार
मुबारक हो आपको
जन्माष्टमी का त्यौहार

मटकी तोड़े, माखन खाए फिर भी सबके मन को भाये,
राधा के वो प्यारे मोहन,महिमा उनकी दुनिया गाये।

Contributor:

Happy Krishna Janmashtami Hindi Wishes

कृष्ण जन्माष्टमी हिंदी में शुभकामना

मिश्री से मीठे नन्द लाल के बोल,
इनकी बातें हैं सबसे अनमोल,
जन्माष्टमी के इस पावन अवसर पर,
दिल खोल के जय श्री कृष्ण बोल.
हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी

चंदन की ख़ुशबू को रेशम का हार,
सावन की सुगंध और बारिश की फुहार,
राधा की उम्मीद को कन्हैया का प्यार,
मुबारक हो आपको जन्माष्टमी का त्यौहार.
हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी

जो सबको राह दिखाते और सबकी बिगड़ी बनाते हैं,
हम तो ऐसे कृष्ण-कन्हैया का गुणगान गाते हैं.
हैप्पी जन्माष्टमी

श्री कृष्ण के कदम आपके घर आये,
आप खुशियो के दीप जलाये,
परेशानी आपसे आँखे चुराए,
कृष्ण जन्मोत्सव की आपको शुभकामनायें .
हैप्पी जन्माष्टमी

भगवान् श्री कृष्ण स्वयं आप के घर आये,
आप ख़ुशी से दिए जलाये,
इस महोत्सव को आप बड़े धूम-धाम से मनाएँ,
हमारी तरफ से कृष्ण जन्मोत्सव की ढेर सारी शुभकामनाएँ.
हैप्पी जन्माष्टमी

हम भी तेरी मोहनी मूरत दिल में छिपाये बैठे है,
तेरी सुन्दर सी छवि आँखों में बसाये बैठे है;
इक बार बांसुरी की मधुर तान सुनादे कान्हा,
हम भी एक छोटी सी आस जगाये बैठे है। हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी।

बंसी बजाकर सबको है नचाया,
माखन चुराकर भी खूब है खाया,
जिसने दुनिया को खुशी से जीना सिखाया,
उस कान्हा के जन्मदिन का त्यौहार है आया।
हैप्पी कृष्ण जन्माष्टमी।

माखन खावे, शोर मचावे,
गोपियों के संग रास रचावे।
मुरली बजाके मन हर्षाये,
मेरो नटखट नन्द गोपाल।
हैप्पी श्री कृष्ण जन्माष्टमी।

होता है प्यार क्या,
दुनिया को जिसने बताया;
दिल के रिश्तों को जिसने प्रेम से सजाया।
आज उन श्री कृष्ण का जन्मदिन है।
हैप्पी बर्थडे कृष्णा।

Contributor:

Krishna Janmashtami Shubhkamna Sandesh

कृष्ण जन्माष्टमी शुभकामना संदेश

मुरली मनोहर कृष्ण कन्हैया,
यमुना तट पर विराजे है,
मोर मुकुट पर,कानों में कुंडल,
कर में मुरलिया साजे है।
श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें।

माखन चोर नन्द किशोर,
बांधी जिसने प्रीत की डोर,
हरे कृष्ण हरे मुरारी,
पुजती जिन्हें दुनिया सारी,
आओ उनके गुण गाएं
सब मिल के जन्माष्टमी मनाये।

बाल रूप है सब को भाता माखन चोर वो कहलाया है
आला आला गोविंदा आला बाल ग्वालों ने शोर मचाया है
झूम उठे हैं सब ख़ुशी में, देखो मुरली वाला आया है
आप सभी को कृष्णा जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई

बचपन में बड़े नटखट, जो चुराए मिश्री और माखन
ऐसे भगवान को मेरे सच्चे दिल से नमन
जन्माष्टमी की शुभकामनाये

सोचा किसी अपने से बात करें
अपने किसी खास को याद करें
किया जो फैसला जन्माष्टमी की शुभकामना देने का
दिल ने कहा क्यों न आपसे शुरूआत करें
जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाये

कृष्ण की महिमा, कृष्ण का प्यार;
कृष्ण में श्रद्धा, कृष्ण से ही संसार;
मुबारक हो आप सबको जन्माष्टमी का त्योहार!

प्रेम से श्री कृष्ण का नाम जपो,
दिल की हर इच्छा पूरी होगी,
कृष्ण आराधना में लीन हो जाओ,
उनकी महिमा जीवन खुशहाल कर देगी।
शुभ जन्माष्टमी!

आओ मिलकर सजाये नन्दलाल को,
आओ मिलकर करें उनका गुणगान!
जो सबको राह दिखाते हैं,
और सबकी बिगड़ी बनाते हैं!
शुभ जन्मआष्ट्मी!

जन्माष्टमी के इस अवसर पर ,
हम ये कामना करते हैं कि
श्री कृष्ण की कृपा आप पर,
और आपके पूरे परिवार पर हमेशा बनी रहे।
शुभ जन्मआष्टमी!

कृष्ण जिनका नाम,
गोकुल जिनका धाम,
ऐसे श्री कृष्ण भगवान को
हम सब का प्रणाम,
जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ एवं कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई.

राधा के दिल में कृष्ण,
राधा के साँसों में कृष्ण,
चाहे कितना भी रास रचे कृष्ण,
लोग तो बस यही कहेंगे –
“राधे कृष्ण राधे कृष्ण”
कृष्ण जन्मोत्सव की ढेर सारी शुभकामनाएँ.

माखन मिशरी चुरा कर जिसने खाया,
गोपियों के संग जिसने रास रचाया,
ख़ुशी मनाओ उनके जन्मोत्सव की,
जिसने मुरली बजा कर सबको नचाया,
जिसने पूरी दुनिया को प्रेम का पाठ पढाया.
जय हो कृष्ण कन्हैया की.
कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ

Contributor: