Makar Sankranti SMS Collection for Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram & Other Social Sites.

Makar Sankranti Short Wishes

Makar Sankranti Short Wishes

Warm wishes for you and your family for Makar Sankranti.

The harvest festival is here.
May you have a wonderful Makar Sankranti.

I wish you soar high just like the kites on Makar Sankranti.
Happy Makar Sankranti!

Wishing you and your family Happy Makar Sankranti.

May auspicious festival of Makar Sankranti fill your home with joy.
Have a wonderful Makar Sankranti.

Sending you warm greetings on the happy occasion of Makar Sankranti.
Have lots of fun on Makar Sankranti.

Wishing you and your family loads of happiness and sweet surprises this Makar Sankranti!

Hope you are blessed with peace, prosperity, and good harvest this Makar Sankranti.

Warm wishes for a Makar Sankranti filled with sweet moments you will cherish forever!

Hope this Makar Sankranti brings to your home, rays of joy and hope.
Happy Makar Sankranti!

May the sun radiate.. peace, prosperity and happiness in your life on Makar Sankranti and always.
Happy Makar Sankranti

Hope you are blessed with peace, prosperity, and good harvest this Makar Sankranti.

Wishing you and your family, the blessings of Sun God on Makar Sankranti!

Wishing you and your family happiness, warmth, and moments you cherish today and forever.
Happy Makar Sankranti

Hope the festival of Makar Sankranti brings lots of happiness, bliss, and good times in your life.

Wishing that the rising sun of Makar Sankranti fills your life with bright and happy moments.

Hope this Makar Sankranti brings to your home, rays of joy and hope.
Happy Makar Sankranti!

Contributor:

Makar Sankranti Hindi Shayari

मकर संक्रांति हिंदी शायरी

तिल पकवानों की मिठास जिंदगी में भरिये
पतंगों की तरह आकाश में बुलंदी पाइये
और अपनी मेहनत की डोर से बुलंदी को संभाल के रखिये
आपको मकर संक्रांति की शुभकामनायें

खुले आसमा में जमी से बात न करो
ज़ी लो ज़िंदगी ख़ुशी का आस न करो
हर त्यौहार में कम से कम हमे न भूलो करो
फ़ोन से न सही मैसेज से ही संक्राति विश किया करो

पुराना साल जाता है
नया साल आता है
साथ अपने संक्रांति की खुशियां लाता है
भगवान आप को वो खुशियां दे
जो आप का दिल चाहता है

त्यौहार नहीं होता अपना पराया
त्यौहार है वही जिसे सबने मनाया
तो मिला के गुड़ में तिल
पतंग संग उड़ जाने दो दिल
हैप्पी मकर संक्रांति

बचपन में वो धूम मचाना, मौज मनाना
यारो के साथ पतंगे उड़ाना
बहुत सही था यार वो ज़माना
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें

दिल को धडकन से पहले
दोस्तों को दोस्ती से पहले
प्यार को मोहब्बत से पहले
ख़ुशी को गम से पहले
आपको कुछ दिन पहले
मकरसक्रांति की शुभकामना सबसे पहले

हर पतंग जानती है
अंत में कचरे मे जाना है
लेकिन उसके पहले हमें
आसमान छूकर दिखाना है
बस ज़िंदगी भी यही चाहती है

काट ना सके कभी कोई पतंग आप की
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की
छू लो आप जिंदगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊंचाइयां आसमान की
Wish You Happy Makar Sankranti

पूर्णिमा का चाँद रंगों की डोली
चाँद से उसकी चांदनी बोली
खुशियों से भरे आपकी झोली
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी
‘पतंग वाली ‘ “मकर संक्रांति”

पल पल सुनहरे फूल खिलें
कभी ना हो काँटों का सामना
जिंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे
संक्रांति पर हमारी यही शुभकामना

दिल में है छायी मस्ती
मन में भरी है उमंग
उड़ती हैं पतंगें रंग बिरंगी
आसमान में छाया मकर संक्रांति का रंग

पतंगों का नशा
मांझे की धार
सर्दी की मार
फिर भी दिल है बेक़रार
मुबारक हो आपको पतंगों का त्यौहार
हैप्पी मकर संक्रांति

ठण्ड की एक सुबह पड़ेगा हमे नहाना
क्यों की संक्रांति का पर्व कर देगा मौसम सुहाना
कही पतंग कही दही चुरा कही खिचड़ी
सब कुछ का है मिल कर ख़ुशी मनना
हैप्पी सक्रांति

पूर्णिमा का ‘चाँद, रंगों की ‘डोली’.
चाँद से उसकी चांदनी बोली
खुशियो से भरे आपकी ‘झोली
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी
‘पतंग वाली ’ मकर संक्रांति
हैप्पी संक्रांति ……

बंदे हैं हम देश के,
हम पर किसका ज़ोर?
मकर संक्रान्ति में उड़े,
पतंगे चारो और
लंच में खाएं फिरनी गोल,
अपना मांझा खुद सूतने,
आज हम चले छत की और,
हैप्पी मकर सक्रांति

Contributor:

Makar Sankranti Marathi Messages

मकरसंक्रांती मराठी शुभकामना संदेश

गोड गोड शब्दांचा फुलवा पाक,
स्नेहांचे तिळ मिळवा त्यात,
तिळावर फुलेल पाकाचा काटा,
प्रेमाने भेटा आणि तिळगुळ वाटा…
मकरसंक्रांतीच्या हार्दिक शुभेच्छा

गुळातील गोडवा ओठावर येऊ द्या..
मनातील कडवापणा बाहेर पडू द्या…
या संक्रांतीला तीळगुळ खाताना आमची आठवण राहू द्या….
गोड गोड मित्रांना!!!!
मकरसंक्रांतीच्या हार्दिक शुभेच्छा …

एक तिळ रुसला, फुगला
रडत रडत गुळाच्या पाकात पडला
खटकन हसला
हातावर येताच बोलू लागला
तिळगुळ घ्या गोड गोड बोला..

आठवण सूर्याची,
साठवण स्नेहाची,
कणभर तीळ,
मनभर प्रेम,
गुलाचा गोड़वा,
स्नेह वाढवा…
“तिळगुळ घ्या गोड गोड बोला”

फुलांचा सुगंध कोणी चोरू शकत नाही,
सूर्याची किरणे कोणी लपवू शकत नाही,
तुम्ही आमच्यापासून
कितीही दूर असलात तरी,
मकरसंक्रांत सारख्या मंगलप्रसंगी
तुम्हाला आम्ही विसरू शकत नाही.!
तिळ गुळ घ्या गोड गोड बोला

पैशाने श्रीमंत असणारी माणसं पावला-पावलावर भेटतात
पण मनाने श्रीमंत असलेली माणसं भेटण्यासाठी पावले झिजवावी लागतात
अशाच सोन्यासारख्या माणसांना
मकर संक्रातीच्या हार्दिक शुभेच्छा

परक्यांना ही आपलसं करतील असे काही गोड शब्द असतात,
शब्दांनाही कोडे पडावे अशी काही गोड माणसं असतात,
किती मोठं भाग्य असतं जेव्हा ती आपली असतात.
अशाच गोड माणसांना व त्यांच्या परिवाराला
मकरसंक्रांतीच्या गोड गोड शुभेच्छा

म…… मराठमोळा सण
क…… कणखर बाणा
र …… रंगीबिरंगी तिळगुळ
सं…… संगीतमय वातावरण
क्रा…… क्रांतीची मशाल…
त …… तळपणारे तेज
********************­*****
मकर संक्रांतीच्या हार्दिक शुभेच्छा
********************­*****

नभी उंचच उंच लहरू दे पतंग,
आयुष्यात बहरू दे एक नवी उमंग,
आणि आयुष्यात पसरू दे आनंद-तरंग….
मकरसंक्रांतीच्या हार्दिक शुभेच्छा.

कणभर तिळ मणभर प्रेम
गुळाचा गोडवा आपूलकी वाढवा
तिळगुळ घ्या गोडगोड बोला….
मकरसंक्रातीच्या गोड गोड शुभेच्छा

नवीन वर्षाच्या
नवीन सणाच्या
प्रियजनांना
गोड व्यक्तींना
मकरसंक्रांतीच्या हार्दिक शुभेच्छा

तुमच्या यशाची पतंग
उचंच उंच उडत रहावी हीच सदिच्छा
मकर संक्रांति च्या हार्दिक शुभेच्छा!

दिवस संक्रांतीचा
मधुर वाणीचा
रंग उडत्या पतंगाचा
बंध दाटत्या नात्यांचा
मकर संक्रांतीच्या हार्दिक शुभेच्छा

Contributor:

Makar Sankranti Messages In Hindi

मकर संक्रांति हिंदी शुभकामना संदेश

सूरज की राशि बदलेगी
बहुतों की किस्मत बदलेगी
यह साल का पहला पर्व होगा
जब हम सब मिलकर खुशियाँ मनायेगें अपार
हैप्पी मकर संक्रांति

नजर सदा हों ऊँची, सिखाती है पतंग
इस संक्रांति में हमें
काम, क्रोध, लोभ, मोह एवं अहंकार जैसी
पतंगों को भी काटना चाहिए
आप सभी को मकर संक्रांति की शुभकामनायें

ऊँची पतंग से मेरी ऊँची उड़ान होंगी।
इस जहाँ में मेरे लिए मंजिले तमाम होंगी।
जब भी आसमान की और देखोगे तुम दोस्तों।
तुम्हारे ही हाथों मेरी डोर के साथ जान होंगी।
तिल्ली भी पीली और गुड़ में मिठास होंगी।
मकर सक्रांति पर्व पर मेरी तरफ से बधाइयाँ बार बार होंगी।

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी,
टूटे ना कभी डोर विश्वास की,
छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी,
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की।
मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें

ख़ुशी का है यह मौसम,
गुड और टिल का है यह मौसम,
पतंग उड़ाने का है यह मौसम,
शांति और समृद्धि का है यह मौसम :
मकर संक्रांति की शुभकामनायें

कागज अपनी किस्मत से उड़ती है,
और
पतंग अपनी काबिलियत से…
इसलिए
किसमत साथ दे या ना दे…
पर काबिलियत हमेशा साथ देती…
काबिल बनो… कामयाबी झक मारके पीछे दौड़ेगी…
हेप्पी मकरसंक्रांति

तनमें मस्ती, मनमें उमंग
चलो सारे एक संग, आज उडायें आकाशमें पतंग
उछाल हवामें संक्रांतीके रंग
मकरसंक्रांतीकी शुभकामनाएँ

छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी,
टूटे ना कभी डोर विश्वास की,
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की।
मकर सक्रांति की हार्दिक शुभ कामनायें

तन में मस्ती, मन में उमंग
देकर सबको अपनापन
गुड में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग
और भर ले आकाश में अपने रंग
हैप्पी मकर संक्रांति

हो मिठास की बोली, मीठे और हर वक्त मीठी जुबान
त्योहार है मकर संक्रांति का और आपको भी हमारा यही पैगाम

है यह मौसम ख़ुशी का
गुड और तिल का
पतंग उड़ाने का
शांति और समृद्धि का
मकर संक्रांति की शुभकामनाये

तिल पकवानो की मिठास ज़िन्दगी में भरिये,
पतंगों की तरह आकाश मि बुलंदी पाइए,
और अपनी मेहनत की डोर से उस बुलंदी को सम्भाल कर रखिये।
मकर संक्रांत की शुभकामनाये

Contributor:

Uttarayan Jokes in Hindi

उत्तरायण हिंदी चुटकुले

बंदे हम गुजरात के, हम पे किसका जोर
उत्तरायण में उड़े है, पतंग चारों ओर
हम लोग खाये उंधियाँ, जलेबी गोल गोल…
अपनी पतंग को कटवाने आज चले है हम…

देख भाई…
प्यार में गिरना
लेकिन छत पर से मत गिरना
हड्डीयाँ टूटने पर बहोत ही दर्द होता है

उत्तरायण आयी नहीं कि, लोगों का
ये “पक्षी बचाओं अभियान” चालू…
चलो अच्छा है वैसे…
पर लोग भी साले अजीब है…
मुर्गी खाने की और
कबूतर बचाने का…

पति ने फेसबुक पोस्ट डाला…
14 जनवरी उत्तराय के शुभ अवसर पर
पतंग पर अपनी पत्नी का फोटो
चिपकाकर पतंग उडाये और
अपने से दूर जाते देखने का आनंद ले
पत्नी ने तुरंत कमेन्ट ठोका –
आनंद और भी दोगुना हो जायेगा,
जब पतंग किसी दूसरी पतंग से पेच लड़ायेगी
पति शोक्ड, पत्नी रोक्ड

अंगूठा बचाये रखना
पतंग तो 2 दिन है
पर व्हॉट्सऐप फेसबुक तो
363 दिन है…
खास करके Loves – सूचना जनहित में जारी

आदमी का भी पतंग की तरह ही है साहब
कन्या अच्छी बंधी तो उची उड़ान
और गलत बंधी तो
गोल गोल घुमता रहता है
Happy Makar Sankranti

Contributor: