Barish Shayari Status in Hindi

बूँदे बारिश की यूँ जमीन पर आने लगी,
सोंदी से महक माटी की जगाने लगी,
हवाओं में भी जैसे मस्ती छाने लगी
वैसे ही हमें भी आपकी याद आने लगी.

Barish Me Hum Pani Bankar Baras Jayenge
बारिश में हम पानी बनकर बरस जायेंगे,
पतझड़ में फूल बनके बिखर जायेंगे,
क्या हुआ जो हम आपको तंग करते हैं,
कभी आप इन लम्हों के लिए भी तरस जायेंगे.

Barish Shayari
या अल्लाह हम सब पर अपनी रहमत कि बारिश कर दे
हमारे गुनाहों को माफ कर दे.

आज बारिश में तुम्हारे संग नहाना हैं,
सपना ये मेरा कितना सुहाना हैं,
बारिश के कतरे जो तेरे होंठों पे गिरे,
उन कतरों को अपने होंटों से उठाना हैं.

Barish Shayari
बरसात की भीगी रातों में फिर कोई सुहानी याद आई,
कुछ अपना जमाना याद आया कुछ उनकी जवानी याद आई.

उस प्यार को हम सच्चा नहीं कहते है,
जिसे बारिश में अपने महबूब की याद ना आये.

आज मेरी पूरी हुई ख्वाहिश,
दिल खुश करने वाली हुई बारिश।

Barish Shayari
तुम्हारे शहर का बरसात बड़ा सुहाना लगे
इक शाम चुरा लू अगर बुरा ना लगे.

जब-जब बादल बरसता है,
सनम से मिलने को दिल तरसता हैं.

कहीं फिसल ही न जाऊं तेरी याद में चलते-चलते..
रोक अपनी यादों को मेरे शहर में बारिश का समाँ हैं.

Barish Shayari
पूछते हो ना मुझसे तुम हमेशा की
मे कितना प्यार करता हु तुम्हे
तो गिन लो बरसती हुई इन बूँदो को तुम……!!!!!!

बारिश के मौसम में
किसान खुश होता है,
अगर उससे उसके खेतों
की सिचाई होती है. भले
ही घर की छत टपकती है.

Barish Shayari
गर मेरी चाहतों के मुताबिक,
जमाने में हर बात होती..! तो बस वो होता मैं होती,
और सारी रात बरसात होती..!!

सड़कों पर जमा पानी देखकर
शहर की बारिश का पता चलता है,
जब गाँव में बारिश होती है
तब बाग़-बगीचों और खेतों में
हरियाली ही हरियाली नजर आती है.

Barish Shayari
“बादलों से कह दो,
जरा सोच समझ कर बरसे,
अगर मुझे उनकी याद आ गयी,
तो मुकाबला बराबरी का होगा ।”

मेरे शहर का मौसम कितना खुश गंवार हो गया,
लगा जैसे आसमां को जमीन से प्यार हो गया.

हम जागते रहे दुनिया सोती रही,
इक बारिश ही थी, जो मेरे साथ रोती रही.

Barish Shayari
सुना है पहली बारिश में दुआ क़बूल होती है
अगर हो इज्जाजत तो मांग लू तुम्हे…?
मुबारक हो पहली बारिश

हमारे शहर आ जाओ सदा बरसात रहती हैं,
कभी बादल बरसते हैं, कभी आँखे बरसती हैं.

बारिश का ये मौसम कुछ याद दिलाता हैं,
किसी के साथ होने का एहसास दिलाता हैं,
फ़िज़ा भी सर्द हैं यादें भी ताज़ा हैं
ये मौसम किसी का प्यार दिल में जगाता हैं.

Barish Shayari
बता किस कोने में, सुखाऊँ तेरी यादें,
बरसात बाहर भी है, और भीतर भी है..

जमीन जल चुकी हैं, आसमान बाकी हैं,
सूखे कुएँ तुम्हारा इम्तिहान बाकी हैं,
बादलों बरस जाना समय पर इस बार,
किसी का मकान गिरवी तो किसी का लगान बाकी हैं.

सुना है बहुत बारिश है तुम्हारे शहर में,
ज्यादा भीगना मत,
अगर धुल गयी सारी गलतफहमियाँ,
तो बहुत याद आयेंगें हम.

Barish Shayari
हमारे शहर आजाओ सदा बरसात रहती है
कहीं आंखें बरसती है कहीं बादल बरसते हैं

ये बारिश जरा थम के बरस,
जब मेरा सनम आ जाए तो जम के बरस,
पहले ना बरस कि वो आ न सके,
जब वो आ जाए तो इतना बरस कि वो जा न सके.

काश मेरे ज़िन्दगी में आए इक ऐसी बरसात,
मेरे हाथ में हो तेरा हाथ, भीगते रहे हम सारी रात,
होंट रहे ख़ामोश, बस आँखों से हो तेरी मेरी बात.

Barish Shayari
ए बारिश
ज़रा थम के बरस,
जब मेरा यार आ जाये
तो जम के बरस, पहले ना बरस
की वो आ ना सके, फिर इतना बरस की
वो जा ना सके.

एक तो ये रात,
उफ़ ये बरसात,
इक तो साथ नही तेरा,
उफ़ ये दर्द बेहिसाब
कितनी अजीब सी हैं बात,
मेरे ही बस में नही मेरे हालात

Barish Shayari
खयालों में वही, सपनो में वही,
लेकिन उनकी यादों में हम थे ही नहीं,
हम जागते रहे दुनिया सोती रही,
एक बारिश ही थी, जो हमारे साथ रोती रही.

मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है,
बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है,
बादल जब गरजते हैं, दिल की धड़कन बढ़ जाती है,
दिल की हर इक धड़कन से आवाज़ तुम्हारी आती है,
जब तेज हवायें चलती हैं तो जान हमारी जाती है,
मौसम है कातिल बारिश का और याद तुम्हारी आती है.

Barish Shayari
बरसात की भीगी रातों में फिर कोई सुहानी याद आई,
कुछ अपना जमाना याद आया,
कुछ उनकी जवानी याद आई,
हम भूल चुके थे जिसने हमें दुनिया में अकेला छोड़ दिया,
जब गौर किया तो एक सूरत जानी पहचानी याद आई.

समझ में नहीं आया बारिश की वो बूँद खुश है या दुखी है,
जो देखने में बड़ी खूबसूरत लगती है पर पत्तों पर रुकी है.

Barish Shayari
बिन बादल बरसात नहीं होती,
सूरज डूबे बिना रात नहीं होती,
अब कुछ ऐसे हालात हैं हमारे की,
आपको देखे बगैर दिन की शुरुआत नहीं होती.

हर बार ये बारिश उसके प्यार का पैगाम लाती है,
मेरे बंजर दिल के सूखे घावों को हरा कर जाती है.

ऐ बारिश, तुझसे शुक्रिया इन कलियों ने कहा है,
एक तुझसे मिलने के लिए सूरज की गर्मी को सहा है.

Ye daulat bhi lelo, ye shohrat bhi lelo...
ये दौलत भी ले लो, ये शोहरत भी ले लो
भले छीन लो मुझसे मेरी जवानी
मगर मुझको लौटा दो बचपन का सावन
वो कागज़ की कश्ती, वो बारिश का पानी

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Mask Status in Hindi
  • Good Night Hindi Shayari Status
  • Mask Shayari Status Hindi Images
  • Best Travel Shayari in Hindi
  • Good Night Shayari in Hindi
  • Worker Day Shayari In Hindi
  • No Smoking Shayari In Hindi
  • Girl Anmol Shayari In Hindi
  • Eye Donation Day Shayari In Hindi

Leave a comment