Search

Shri Ram Pictures, Graphics & Messages For Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram

Jai Ram Sada Sukhdham Hare

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Jai Ram Sada Sukhdham HareDownload Image
जय राम सदा सुख धाम हरे। रघुनायक सायक चाप धरे।।
भव बारन दारन सिंह प्रभो। गुन सागर नागर नाथ बिभो।।
भावार्थ:-हे नित्य सुखधाम और (दु:खों को हरने वाले) हरि! हे धनुष-बाण धारण किए हुए रघुनाथजी! आपकी जय हो। हे प्रभो! आप भव (जन्म-मरण) रूपी हाथी को विदीर्ण करने के लिए सिंह के समान हैं। हे नाथ! हे सर्वव्यापक! आप गुणों के समुद्र और परम चतुर हैं‍॥1

This picture was submitted by Sunil Sharma.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Ram Charit Manas – Sant Asantahi Ki Aisi Karni

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Ram Charit Manas - Sant Asantahi Ki Aisi KarniDownload Image
संत असंतन्हि कै असि करनी। जिमि कुठार चंदन आचरनी॥
काटइ परसु मलय सुनु भाई। निज गुन देइ सुगंध बसाई॥
सुनहु असंतन्ह केर सुभाऊ। भूलेहुँ संगति करिअ न काऊ॥
तिन्ह कर संग सदा दुखदाई। जिमि कपिलहि घालइ हरहाई॥
भावार्थ –
संत और असंतों की करनी ऐसी है जैसे कुल्हाड़ी और चंदन। कुल्हाड़ी चंदन को
काटती है। क्योंकि उसका स्वभाव या काम ही वृक्षों को काटना है, किंतु चंदन
अपने स्वभाववश अपना गुण देकर उसे सुगंध से सुवासित कर देता है॥
असंतों दुष्टों का स्वभाव सुनो, कभी भूलकर भी उनकी संगति नहीं करनी
चाहिए। उनका संग सदा दुःख देने वाला होता है।

This picture was submitted by Sunil Sharma.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Ram Charit Manas Stuti

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Download Image
श्री राम चरित मानस स्तुति
जय राम सदा सुखधाम हरे। रघुनायक सायक चाप धरे।।
भव बारन दारन सिंह प्रभो। गुन सागर नागर नाथ बिभो।।

तन काम अनेक अनूप छबी। गुन गावत सिद्ध मुनींद्र कबी।।
जसु पावन रावन नाग महा। खगनाथ जथा करि कोप गहा।।
View More

This picture was submitted by Sunil Sharma.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Ram Charit Manas Shlok

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Ram Charit Manas ShlokDownload Image
शान्तं शाश्वतमप्रमेयमनघं निर्वाणशान्तिप्रदं
ब्रह्माशम्भुफणीन्द्रसेव्यमनिशं वेदान्तवेद्यं विभुम्‌।
रामाख्यं जगदीश्वरं सुरगुरुं मायामनुष्यं हरिं
वन्देऽहं करुणाकरं रघुवरं भूपालचूडामणिम्‌॥ (१)

भावार्थ:- शान्त, सनातन, अप्रमेय, निष्पाप, मोक्ष और परम शान्ति प्रदान करने वाले, ब्रह्मा जी, शंकर जी और शेषनाग जी से निरंतर सेवित, वेदों के द्वारा जानने योग्य, सर्वव्यापक, देवताओं में सबसे बड़े, माया से मनुष्य रूप में दिखने वाले, समस्त पापों को हरने वाले, करुणा की खान, रघुकुल में श्रेष्ठ तथा राजाओं के शिरोमणि श्रीराम कहलाने वाले जगत को धारण करने वाले जगदीश्वर की मैं वंदना करता हूँ (१)

This picture was submitted by Sunil Sharma.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Ram Prabhu Profile Pic

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Download Image

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Ram Hd Image

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Shri RamDownload Image

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Sita Ram

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Shri Sita RamDownload Image

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Ram Bhagwan

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Shri Ram BhagwanDownload Image

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Ram Mobile Wall Paper

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Shri Ram Mobile Wall PaperDownload Image

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Raghupati Raaghav Rajaaram, Patit Paavan Seetaram

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Image

रघुपति राघव राजा राम, पतित पावन सीता राम।

रघुपति राघव राजा राम
पतित पावन सीता राम।

️ सीता राम सीता राम
भज प्यारे तू सीता राम।। View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor: