Ek Jaisi Soch Mane Ki Koi Jyada Soch Nahi Raha

जहाँ सभी की सोच एक जैसी हो तो मानें कि कोई भी ज्यादा सोच ही नहीं रहा है। 🙂

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Acche Bure Karm Dikhai Nahi Dete

Leave a comment