Guru Purnima Shayari In Hindi


गुरु से भेद न मानिये, गुरु से रहें न दूर।
गुरु बिन ‘सलिल’ मनुष्य है, आँखें रहते सूर।।
गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनायें

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

Leave a comment