Homage To Lokmanya Bal Gangadhar Tilak


‘स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’ जैसा कालजयी नारा देने वाला भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दैदीप्यमान नक्षत्र लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने एक अगस्त 1920 को अपनी आंखें मूंद ली थी।
आज उनके 98 वी पुण्यतिथि  पे उन्हे याद करते हुए भावपूर्ण श्रद्धांजली ओर  शतःश नमन।
पुण्यतिथि विशेष:
बापू से पहले आजादी के आंदोलन की नींव रखने वाले ‘तिलक’
देश के स्वतंत्रता आंदोलन के जनक कहे जाने वाले।
गणेश उत्सव को बनाया अंग्रेजों के खिलाफ हथियार।
देश में सबसे पहले की स्वराज की मांग।
महात्मा गांधी के हाथों में सौंपी अपनी विरासत।

और संयोग देखिए जिस दिन यानी एक अगस्त 1920 को असहयोग आंदोलन की शुरूआत हुई उसी दिन लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक का स्वर्गवास हो गया. ऐसा लगता है जैसे तिलक बस उस दिन के इंतजार में थे जब वह किसी काबिल देशभक्त के हाथों में अपनी विरासत सौंप सकें।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

See More here: Editor's Page

Tag:

More Pictures

  • Happy Birthday To Our Son
  • Happy Ganesh Chaturthi
  • Happy Birthday To My Incredible Son

Leave a comment