Jain Payushan Ke Khsmavani Parv Par Dilse Michhami Dukkadam

Michhami DukkadamDownload Image
जैन पयुर्षण के क्षमावाणी पर्व पर
दिल से मिच्छामी दुक्कड़म ‘उत्तम क्षमा’।
विगत दिनों में मेरे किसी व्यवहार से
आपका दिल दुखा हो तो उसके लिए
मैं हाथ जोड़कर आपसे क्षमा चाहता हूँ ,
कृपया क्षमा कर अनुग्रहित करे .
जय जिनेंद्र

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Michhami Dukkadam Paryushan Maha Parv
  • Michhami Dukkadam
  • Michhami Dukkadam
  • Michhami Dukkadam - Jai Jinendra
  • Michhami Dukkadam

Leave a comment