Khule Aasman Me Jameen Se Baat Na Kato

खुले आसमा में जमी से बात न करो
ज़ी लो ज़िंदगी ख़ुशी की आस न करो
हर त्यौहार में कम से कम हमे न भुला करो
फ़ोन से न सही मैसेज से ही संक्राति विश किया करो

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Makar Sankranti Shayari
  • Makar Sankranti Shayari
  • Makar Sankranti Shayari
  • Makar Sankranti Shayari

Leave a comment