Nav Durg Strotram In Sanskrit

Nav Durg Strotram In Sanskrit
प्रथमं शैलपुत्री च,द्वितीयं ब्रह्मचारिणी ।
तृतीयं चन्दघण्टेति,कूष्माण्डेति चतुर्थकम् ।।

पंचमं स्कन्दमातेति,षष्ठं कात्यायनीति च ।
सप्तमं कालरात्रीति,महागौरीति चाष्टमम् ।।

नवमं सिद्धिदात्री,च नवदुर्गा: प्रकीर्तिता:।
उक्तान्येतानि नामानि,ब्रह्मणैव महात्मना ।।

पहली शक्ति का नाम शैलपुत्री ( हिमालय कन्या पार्वती ),
दूसरी शक्ति का नाम ब्रह्मचारिणी (परब्रह्म परमात्मा को साक्षात कराने वाली ),
तीसरी शक्ति चन्द्रघण्टा हैं।
चौथी शक्ति कूष्माण्डा(सारा संसार जिनके उदर में निवास करता हो )हैं।
पाँचवीं शक्ति स्कन्दमाता (कार्तिकेय की जननी )हैं।
छठी शक्ति कात्यायनी (महर्षि कात्यायन के अप्रतिभ तेज से उत्पन्न होने वाली) हैं
सातवीं शक्ति कालरात्रि ( महाकाली ) तथा
आठवीं शक्ति महागौरी हैं।
नवीं शक्ति सिद्धिदात्री हैं और ये नव दुर्गा कही गई हैं।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

See More here: Nav Durga Shakti

Tag:

More Pictures

Leave a comment