Prachinta Se Navinta Ka Safar Bhi Nishchit Hai

Prachinta Se Navinta Ka Safar Bhi Nishchit Hai
जैसे रात्रि के बाद भोर का आना या दुख के बाद सुख का आना जीवन चक्र का हिस्सा है,
वैसे ही प्राचीनता से नवीनता का सफ़र भी निश्चित है।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Zindagi Ka Aaina Bhi Ajeeb Hai
  • Zindagi Ka Sabse Lamba Safar
  • Corona Se Bachav Sarkar Ka Deshhit Me Janta Se Aagrah

Leave a comment