Raksha Bandhan Ki Shubhkamnaye

 Raksha Bandhan Shayari
ओस की बूंदों से भी प्यारी है,
मेरी बहना
गुलाब की पंखुड़ियों से भी नाज़ुक है,
मेरी बहना
आसमां से उतारी कोई राजकुमारी है,
मेरी बहना
सच कहूँ तो मेरी आँखों की राजदुलारी है,
मेरी बहना
रक्षाबंधन की शुभकामनायें

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  •  Raksha Bandhan Shayari
  •  Raksha Bandhan Shayari
  •  Raksha Bandhan Shayari
  •  Raksha Bandhan Shayari
  •  Raksha Bandhan Shayari
  •  Raksha Bandhan Shayari
  •  Raksha Bandhan Shayari
  • Raksha Bandhan Ki Hardik Shubhkamnaye
  • Raksha Bandhan Ki Dher Sari Shubhkamnaye

Leave a comment