Vakt Aur Sabra Hindi Shayari

Vakt Aur Sabra Hindi Shayari
बस यही दो मसले, ज़िन्दगी भर ना हल हुए,
न नींद पूरी हुई, ना ख्वाब मुकम्मल हुए,
वक्त ने कहा, काश थोड़ा और सब्र होता,
सब्र ने कहा, काश थोड़ा और वक्त होता.

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Zindagi Shayari For Whatsapp
  • Best Life Shayari Quote
  • Zindagi Sad Shayari Image
  • Zindagi To Sirf Muskurahat Shayari

Leave a comment