EK DIN DARD NE DAULAT SE KAHA


एक दिन दर्द ने दौलत से कहा :-
तुम कितनी खुशनसीब हो, हर कोई तुम्हे
पाने की कोशिश करता है और मैं इतना बदनसीब की
हर कोई मुझसे दूर जाने की कोशिश करता है
दौलत बोली :–
खुशनसीब तो तुम हो जिसको पा कर लोग
अपनों को याद करते है, बदनसीब तो मैं हूँ
जिसको पा कर लोग अकसर अपनों को भूल जाते है
Truth Of Life….Must Read…..
एक धनी राजा था….जब वो मरा…तो उसकी तीन(3) इच्छा थी…..
1 – जिन हकीमों ने इलाज किया वो ही सब….मुझको कँधा देँ….कयोँ ???
ताकि सबको पता चल जाये कि हकीम भी मरने से रोक नहीँ सकते….
2 – मुझे लेकर जाते समय हर राह मेँ दौलत बिछा दी जाये…..कयों ???
ताकि सब जान लेँ दौलत किसी काम नहीँ आती…..
3 – दोनों हाथ खाली बाहर लटकाऐ जाये….कयों ???
ताकी सबको मालूम हो….खाली हाथ आए थे…..खाली हाथ जाना है….सब यहीँ रह जाना है…..
दोस्तो….कम से कम दो चार लोगों से रिश्ते बनाये रखिये…यारों…..कयोंकी….श्मशान तक लाश को….दौलत नहीं ले जाया करती…..

This picture was submitted by Smita Haldankar.

See More here: Badi badi baatein

Tag:

More Pictures

Leave a comment