Search

Badi badi baatein Pictures, Graphics & Messages For Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram

इमेज के सुविचार अनुसार बड़ी बड़ी बाते

Hum Gareebo Ka Vidhata Kaun Hai

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 16

This picture was submitted by Kamlesh Kumar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Juth Kahu To Lafjo Ka Dum Ghutata Hai

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 14

एक निवाला मुंह से पेट में उतारने का….
कितना जबरदस्त इंतज़ाम क़ुदरत ने किया है….

☆ अगर गर्म…या…ठंडा है तो….
हाथ बता देते हैं….

☆ ताज़ा या बासी है…तो…
नाक बता देती है….

☆ कड़वा…खट्टा…इंतिहाइ मिर्च मसाला है तो….
ज़बान बता देती है….,

☆ सख़्त है….तो दांत बता देते हैं….,

☆ कुल मिलाकर….निवाला….
पेट तक पहुंचाने के लिए इस क़दर हिफ़ाज़त की गई….और….

☆ अगर फिर भी….कोई ऐसी सख़्त या नुक़सान देह चीज़….
मुंह मे से नीचे उतर ही जाए…तो….
पेट में ऐसे ” तेज़ाब ” या…एसिड मौजूद हैं…जो इसे गला देते हैं…,
या फिर….
☆ एक Automatically…उस निवाले….या बहुत सारे गलत निवालों के समूह को वापस मुंह की तरफ़….
उल्टी (वोमिट) के रूप में…बाहर फेंक देता है….

यह सब ही….
हमारी ज़िन्दगी को क़ायम रखने के लिए किया गया है….और…
सिर्फ़ एक छोटा सा काम….
हम इंसान को दिया गया है….
परमात्मा की तरफ से हिदायत के रूप में के देखना….मेरे बंदे….
हक और हलाल(मेहनत से ही) का ही निवाला ही इस देह(शरीर) से उतारना….और…
इतना सा काम भी आज इंसान से नहीं हो पा रहा है….
अफ़सोस है….दोस्तो…
जहा देखो वहा…
कही न कही…
किसी की मेहनत का फल कोई ओर लेना चाहता है…और इसकी वजह लालच है….
उसका परिणाम क्या होगा….
ये जानने के बावजूद भी….
( झूठ ही झूठ है..इस दुनियाँ में…
सच को समझेंगे भी कैसे…
नक़ाबों से भरे हुए बाज़ार है….
ये सच का आईना….
आखिर बेचें भी तो कैसे..

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Vruddhashram Aur Anath Aashram Ko Ek Jagah Kar Dena Chahiye

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Respect_Ur_Parents…

अपने अनुभवों से….ये खूब समृध्द हैं….
उम्र के इस दौर में….कहलाते लेकिन वृध्द हैं….

इनकी आँख में….समय की गहराई है….
इनके माध्यम से इन्होंने….अपनी करूणा बहाई है….

इनके होठ यौवन की….उड़ान बतायेंगे….
कैसे छूते हैं आसमान….तरीके बतायेंगे….

इनकी बाहों में…प्रेम के आलिंगन हैं….
इनके हाथों में….आशीषों के कंगन हैं….

लोरियों की सरिता…ये ही तो बहाते हैं….
सपनों की सुनहरी….गोद में….सुलाते हैं….

रिश्तों से लबालब….गंगा में नहलाते हैं….
गरिमाओं से परिचय….ये ही तो कराते है….

मई हो या फिर….जून का माह….
देते हैं अपनी….शीतल छाँह….

समस्या भाँपती….इनकी निगाह….
सुझा देती….सुलभ सी राह….
दोस्तो….
न खिडकी और दरवाजा….
न रोशनदान कहते है….

घर के इन बडे बूजुर्गों क….
घर की शान कहते है….

न समझे इनकी मजबूरी….और….
इनको जो भी आँसू दे….

उसे इंसान की बस शक्ल मे….
…..शैतान कहते है….

मयस्सर है जिन्हे भी….
इन पुराने पेडो़ की छाया….

उन्हीं सबको तो किस्मत का….
बडा़ धनवान कहते है….

ये कोहीनूर….
हमको जो मिले है….वक्त से लेकिन….
इन्हें तो हम महज़ इक….
काँच का सामान कहते है….

इन्हीं अनमोल हीरों की कदर….
जिनको नही होती….

उन्हीं को नासमझ कहते है….
या नादान कहते है….
Parents Are God’s In Human Form….
Respect Ur Parents….Frnds….

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Samman Karna Humare Sanskar Hai

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5


एक व्यक्ति की आदत थी की….
रास्ते मे मिलने वाले हर व्यक्ति को वो प्रणाम करता था….
पर एक आदमी….
उसके प्रणाम का जवाब गाली से देता था…..
एक दिन उस व्यक्ति से एक आदमी ने पूछा…
वो आदमी तुम्हे रोज़….बुरा भला कहता है….
तुम फिर भी उसे….रोज़ प्रणाम क्यो करते हो….
उस नेक इंसान ने उत्तर दिया…..
जब वो मेरे लिए आपनी बुरी आदत नही छोड़ सकता….
तो मे उसके लिए….
अपनी अच्छी आदत कैसे छोड़ दु ???….
ये सच है….
( प्यार करने के लिए , तो जिंदगी भी कम पड जाती है….
पता नही लोग…नफरत के लिए….
कैसे समय निकाल लेते है

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Badhai Ho… Laxmi Aayi Hai

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5


Save_Girl_Child……..

आज सभी लोग बेटियों को….
पुजा कर….खाना खिलायेंगे….
बेटियों को कोख मे…मारने वाले….
आज बेटियों को….ढूँढ़ ढ़ूंढ़ कर लायेंगे….
आज फिर होगा….
बेटियों से प्यार का दिखावा….
हमारे अगल बगल मे…आज दिखायी देंगे….
बेटियों को मारने वाले….प्यार के भेष मे…
आज सभी कन्याओं का….
पूजन किया जायेगा….
उन्हे देवी जैसा सम्मान दिया जायेगा….
अपने स्वार्थ के लिये….
आज उनको बेटियों को सम्मान भी देना होगा….
बेटियों के पैरो को छूकर….
आशीर्वाद भी आज उनको लेना होगा….
वो सोचते है…इस दिखावे से….
माता रानी खुश हो जायेगी….
हम सब के ऊपर माता रानी….
खूब कृपा बरसायेगी….
अरे मूर्खों….जानते नहीँ क्या….
माता रानी भी…. एक बेटी है….
ओर जहाँ बेटी का सम्मान नहीँ….
वहाँ….वो भी ना कुछ देती है….
अगर बेटियों से….प्यार नहीँ….
तो कोई ज़रूरत नहीँ…इस दिखावे की….
समझ सकते हो तो समझ जाना….
सीख दे रहा हूँ तुम्हे सीखावे की….
दोस्तो….
बेटी अभिशाप नही वरदान है….
बेटी श्रृष्टि का मूल आधार है….
बेटी संस्कृती की संवाहक है….
बेटी सभ्यता की पालनहार है….
बेटी ईश्वर की अनुकंपा है….
बेटी एक अनमोल धराहर है….
बेटी भविष्य की जन्म दात्री है….
याद रहे….
बेटियाँ है तो कल है….

This picture was submitted by Dipal Maru.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor: