Shubh Pratah Vandan Ramcharit Manas Choupai

Shubh Pratah Vandan Ramcharit Manas ChoupaiDownload Image
शुभ प्रातः वंदन
नर तन सम नहिं कवनिउ देही। जीव चराचर जाचत तेही॥
नरक स्वर्ग अपबर्ग निसेनी। ग्यान बिराग भगति सुभ देनी॥
भावार्थ
मनुष्य शरीर के समान कोई शरीर नहीं है। चर-अचर सभी जीव उसकी याचना करते हैं। वह मनुष्य शरीर नरक, स्वर्ग और मोक्ष की सीढ़ी है तथा कल्याणकारी ज्ञान, वैराग्य और भक्ति को देने वाला है॥

This picture was submitted by Sunil Sharma.

More Pictures

  • Shubh Pratah Vandan Suryadev Image
  • Krishna Shubh Prabhat
  • Pratah Vandan Shankar Image
  • Ganesha Shubh Prabhat
  • Pratah Vandan Om Namah Shivay
  • Pratah Vandan Shiv Stuti Mantra

Leave a comment