Jindgi Ki Kadvi Sachchayi


Pls Must….Read….Frnds……..
आसरा इस जहाँ का मिले न मिले….
मुझको तेरा सहारा सदा चाहिए….
चाँद तारे फलक पर दिखे ना दिखे….
मुझ को तेरा नज़ारा सदा चाहिए….
धन दौलत जहाँ की मिले ना मिले….
हे ईश्वर….तेरे चरणों की रजा चाहिए….
यहाँ खुशिया हैं कम…और जयादा है गम….
जहाँ देखो वहीँ है देखो हरम ही हरम….
मेरी महफ़िल में शम्मा जले ना जले….
मेरे दिल में उजाला तेरा चाहिए….
कभी वैराग है..कभी अनुराग है….
जहाँ बदले माली वाही बाग़ है….
मेरी चाहत की दुनिया बसे ना बसे….
मेरे दिल में बसेरा तेरा चाहिए….
मेरी धीमी है चाल…और पथ है विशाल….
हर कदम पर मुसीबत पे…अब तू संभाल….
पैर मेरे थकें हैं…चले ना चले….
मेरे दिल में इशारा तेरा चाहिए….
मैं हूँ संसार के हाथों में विवश…और….
संसार यह तेरे हाथों में है….
पर हित है…तू… जल… थल… नब में है तू….
मुझे अव्दूत तेरी शरण चाहिए….
कभी बैराग है…कभी अनुराग है….
जिन्दगी बिन धुंए की अजब आग है….
मान सम्मान जग में मिले ना मिले….
बस कृपा होनी…हे ईश्वर…तेरी चाहिए….
मेरे मालिक… आप हैं दया निधि….
मुझे क्या चाहिए…जान लो आप ही….
क्या कहूँ तुमसे….
स्वामी छिपाऊं मैं क्या….
दर्द सहने की शक्ति प्रबल चाहिए….
मुझे…और कूछ नही….
बस सिर्फ…ईश्वर…आप ही चाहिए….

This picture was submitted by Dipal Maru.

See More here: Badi badi baatein

Tag:

More Pictures

Leave a comment