Shubh Shukravar Mataji Images And Quotes ( शुभ शुक्रवार माताजी के इमेजेस और कोट्स )

शुक्रवार यह माताजी का वार माना जाता है. यहाँ पर अलग अलग देवी के बारे में इमेजेस एवं सन्देश है…अपने मित्र एवं परिवार से शुक्रवार को माताजी के इमेजेस शेयर करे.
Shubh Shukravar Mataji Images And Quotes
शुभ प्रभात जय महालक्ष्मी माता
महालक्ष्मी नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं सुरेश्र्वरी ।
हरिप्रिये नमस्तुभ्यं, नमस्तुभ्यं दयानिधे ॥

शुभ शुक्रवार जय संतोषी माता
ॐ श्री संतोषी महामाये गणेशानंदम दायिनी
शुक्रवार प्रिये देवी नारायणी नमोस्तुते!!

Shubh Shukravar Jai Mata Di Good Morning
हर युग में मुनि ज्ञानी देते सबको यह उपदेश,
जो माँ दुर्गा का मनन मन से करे, उसके कटे कलेश।

माँ दुर्गा भक्तो का करती विघ्न विनाश,
भक्तो की पीड़ा हरे, माँ करती कल्याण।

माता जिनको याद करे वो लोग निराले होते हैं,
माता जिनका नाम पुकारे किस्मत वाले होते हैं।

चाहे हो राजा या हो रंक,
बस चले आओ जयकारा लगाते हुए, अम्बे देती हैं सबको शरण।


शुभ शुक्रवार जय दुर्गा माता
हर युग में मुनि ज्ञानी देते सबको यह उपदेश,
जो माँ दुर्गा का मनन मन से करे, उसके कटे कलेश।

Shubh Shukrawar Jai Bhavani Mata
शुभ शुक्रवार जय भवानी माता
जिस दिन हमारा मन परमात्मा को याद करने,
और उसमे दिलचस्पी लेना शुरू कर देता है
उसी दिन से हमारी परेशानियाँ भी हम में
दिलचस्पी लेना बंद कर देती हैं। – गुरु रामदास

Shubh Shukrawar Jai Amba Mata Hindi Image
जब ईश्वर मनुष्य की परीक्षा लेते हैं तब वो मनुष्य का सामर्थ्य भी बढ़ा देते हैं
ताकि वो अधिक बुद्धिमान और अधिक ताकतवर बनें.
शुभ प्रभात

Shubh Shukrwar Mataji Quote Image
शुभ शुक्रवार जय माता जी
जिसका मन सच्चा और कर्म अच्छा हैं वही भगवान का सच्चा भक्त हैं और ऐसे लोगो पर ईश्वर की कृपा हमेशा बनी रहती हैं.

Jai Ambe Mata Shubh Shukrawar
जय अम्बा माता शुभ शुक्रवार
दूर करे भय भक्त का, दुर्गा माँ का रूप,
बल और बुद्धि बढ़ाये, माँ देती सुख की धूप।


शुभ शुक्रवार बोलो संतोषी माता की जय
यूँ ही नहीं झुकती दुनिया तेरे दर पे,
तकदीरें बनती हैं मैया तेरे दर पे।।

Suprabhat Shubh Shukrawar
जय संतोषी माता की
माता संतोषी आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करें।
सुप्रभात शुभ शुक्रवार
जय गणेश की सुता भवानी। रिद्धि-सिद्धि की पुत्री ज्ञानी॥
अगम अगोचर तुम्हरी माया। सब पर करो कृपा की छाया॥
नाम अनेक तुम्हारे माता। अखिल विश्‍व है तुमको ध्याता॥
तुमने रूप अनेक धारे। को कहि सके चरित्र तुम्हारे॥

Shubh Prabhat Shukravar Priye Devi Narayani

Jai Santoshi Mata Shubh Shukravar


शुभ शुक्रवार
संतोषी माता की जय
माँ जब भी तुझको पुकारा हैं,
बिन मांगे सब पाया हैं..।।।


जय अम्बा माता शुभ शुक्रवार
दूर करे भय भक्त का, दुर्गा माँ का रूप,
बल और बुद्धि बढ़ाये, माँ देती सुख की धूप।

जय माता दी, जय माता दी, करता जाऊं शाम सवेरे
माता तुमने मिटा दिए, मेरे जीवन के सभी अंधेरे..।।


जय शेरोवाली माता शुभ शुक्रवार
माँ तेरे चरणों में स्वर्ग हैं,
माँ तेरे आशीष में प्रेम हैं,
माँ तेरी भक्ति में शक्ति हैं,
माँ तेरी आराधना में शांति हैं।


जय गौरी माता – शुभ शुक्रवार
माँ गौरी की कृपा से घरवाली बड़ी प्यारी मिली
जैसे जीवन को मेरे फूलों की क्यारी मिली..।।

सदा भवानी दाहिनी, सन्मुख रहे गणेश
पंच देव मिल रक्षा करें ब्रम्हा विष्णु महेश।


शुभ शुक्रवार जय माता पार्वती
आंखे चाहे खोलूं या बंद करूं,
हर पल माता तेरा दर्श करूं।

यूँ ही नहीं झुकती दुनिया तेरे दर पे,
तकदीरें बनती हैं मैया तेरे दर पे।।

हे माँ तुमसे विश्वास ना उठने देना, तेरी दुनिया में भय से जब सिमट जाऊ
चारो ओर अँधेरा ही अँधेरा घना पाऊ, बन के रोशनी तुम राह दिखा देना।

माला से मोती तुम तोड़ा ना करो, धर्म से मुँह तुम मोड़ा ना करो,
बहुत कीमती हैं जय माता का नाम, माता रानी की जय बोलना कभी छोड़ा ना करो।

Jai Santoshi Mata Shubh Shukravar
शुभ शुक्रवार
संतोषी माता की जय
मैं तो पत्थर हूँ, मेरी माता शिल्पकार हैं मेरी,
हर तारीफ़ के वो ही असली हक़दार हैं..।।

माँ जब भी तुझको पुकारा हैं,
बिन मांगे सब पाया हैं..।।।

जिनके मन में माता रानी का नाम हैं, भाग्य में उसके वैकुण्ठ धाम हैं,
उनके चरणो में जिसने जीवन वार दिया, संसार में उसका कल्याण हैं।

Shubh Shukravar Jai Santoshi Mata Ki
शुभ शुक्रवार
संतोषी माता की जय
हे माँ तू शोक दुःख निवारीनी, सर्व मंगल कारिनी,
चंड-मुंड विधारिनी, तू ही शुंभ-निशुंभ सिधारिनी।।

सोचा करता था माँ तेरी कृपा बिना कैसे ज़रूरते होंगी पूरी,
तेरा आशीर्वाद मिला जो माँ, तो नही रही कोई हसरत अधूरी।

आंखे चाहे खोलूं या बंद करूं,
हर पल माता तेरा दर्श करूं।

अच्छा होता कि माँ के भजनों में वक्त गुजारते,
बेहतर होता कि जीवन भर बस माँ को निहारते।

अम्बे हैं वो, जगदम्बे हैं वो, वो ही सरस्वती और अन्नपुर्णा हैं,
उसकी शरण में ना जाये बिना, जीवन बस एक तृष्णा हैं..।।।

Shubh Shukravar Prem Se Bolo Jai Mata Di
सुबह सुबह लो माँ का नाम,
पूरे होंगे अधूरे बिगड़े काम।

लोगों ने कुछ दिया तो सुनाया भी बहुत हैं, हे माँ दुर्गे,
एक तेरा ही दर हैं जहाँ मुझे कभी ताना नहीं मिला।

जिसने सच्चे मन से, जय माता की बोल दिया,
समझो माता रानी ने उसके लिए, कुबेर का खजाना खोल दिया।

Jai Maa Lakshmi Shubh Shukravar
चलो शरण में जगदम्बे की चलते हैं,
पनाह देगी वो उनको भी, जो पाप की तपन से जलते हैं।

जननी हैं वो, तो वो ही हैं माँ काली,
दर पे उसके ना रहता, किसी का दामन खाली।

माँ तेरे चरणों में स्वर्ग हैं, माँ तेरे आशीष में प्रेम हैं,
माँ तेरी भक्ति में शक्ति हैं, माँ तेरी आराधना में शांति हैं।

Jai Mata Di Shubh Shukravar
ज़िन्दगी का क्या हैं, हँसते खेलते गुजर जायेगी,
जयकारा लगाते रहो, माँ ने चाहा तो मोक्ष यह रूह पा जाएगी।

माँ तेरी चौखट पर शीश हम झुकाते हैं,
तेरी रहमत ही हैं, की हम मुस्कुराते हैं।

मेरी माँ को पता हैं की मेरे दिल में कौन हैं बसता
क्यूंकि उसकी रहमत के बिना रहता हैं जन जन तरसता।


बिन बुलाए भी जहां जाने को जी चाहता हैं,
वो चौखट ही हैं तेरी माँ, जहां यह बंदा सुकून पाता हैं।

ना गिन कर दिया ना तोल कर दिया,
जब भी दिया शेरोंवाली माँ ने, दिल खोल कर दिया।

बेशक पहन लो हमारे जैसे कपड़ें और ज़ेवर,
पर कहा से लाओगे माता रानी के भक्तों वाले तेवर

Good Morning Shubh Shukravar
हमारी ताकत का अंदाजा हमारे जोर से नही,
माता के जय कारे के शोर से पता चलता हैं।

माँ सुन लेगी, तेरी पुकार विश्वास तो कर एक बार


दूर की सुनती हैं, माँ पास की सुनती हैं,
माँ तो आखिर माँ हैं, माँ तो हर मजबूर की सुनती हैं।

जी लो जी भर के माँ तुम्हारे साथ हैं,
किसी से क्या घबराना, जब सर पर दुर्गा का हाथ हैं।

चेहरे पर क्रीम लगाएं या ना लगाएं,
पर माता रानी का तिलक ज़रूर लगाये।

Shubh Shukarvar Jai Mata Di
ना पैसा लगता हैं, ना ख़र्चा लगता हैं,
माता रानी की जयकारा लगाएं, बड़ा अच्छा लगता हैं।

मैंने तेरा नाम लेकर ही सारे काम किये है माँ,
और लोग समझते हैं कि, बंदा बहुत किस्मत वाला हैं।

मैं मैं ना रहा, तू तू ना रहा, सब अपने हो गए,
माँ की नज़रों में जो देखा, सब सपने सच हो गए।

Jai Mata Di Shubh Shukravar
रोशनी माँ तेरे प्यार की पल पल महसूस करूं,
तुझसे हैं आस मेरी माँ, तभी तो करम करके धीरज धरूं।

ना लोगो से भरी बस्ती चाहिए, ना ऊँची हस्ती चाहिए,
मुझे तो माँ आपके आपके दिवानेपन की मस्ती चाहिए।

मर्यादा पाँव में कब तक जंजीर डालेगी,
माथे पर माँ के नाम का तिलक लगाकर चला करो,
यही पहचान दुश्मन का कलेजा चीर डालेगी।

Jai Mata Di Shubh Shukravar
चलता रहा हुँ अग्निपथ पर, चलता चला जाऊँगा,
माता रानी के आशीर्वाद से मनचाही सफलता पाउँगा।

ए माँ मेरी गुनाहों को मेरे मैं कुबूल करता हूँ,
मोक्ष दे दे मेरी माँ, बस यही आशा रखता हूँ।

चिंता नही चिंतन का दामन थामा हैं,
क्योंकि माँ ने मेरी मुझे अपना माना हैं।

Suprabhat Jai Mata Di Shubh Shukrvar
माता रानी वरदान ना देना हमें, बस थोडा सा प्यार देना हमें,
तेरे चरणों में बीते ये जीवन सारा, एक बस यही आशीर्वाद देना हमें।

जब भी मैं बुरे समय से घबराती हूँ,
मेरी पहाड़ों वाली माता की आवाज आती हैं “रुक मैं अभी आती हूँ।

मिलते हैं हज़ारों में से एक हैं, जो हमेशा याद आता हैं,
वो चौखट ही हैं तेरी माँ जहां यह बंदा सुकून पाता हैं।।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Shubh Shukrwar Mataji Quote Image
  • Shubh Prabhat Mataji Quote For Whatsapp
  • Shubh Shanivar Shanidev Images And Quotes
  • Shubh Guruvar Saibaba Images And Quotes
  • Shubh Budhvar Ganesha Images And Quotes
  • Shubh Mangalvar Hanuman Images With Quotes
  • Shubh Somvar Shiv Images With Quotes
  • Shubh Prabhat Hanuman Images And Quotes
  • Shubh Budhwar Jai Shree Ganesh Photo

Leave a comment