Seva sabhiki karna

सेवा (Help) का मतलब….

अगर सेवा करते वक़्त मन में रौब वाली भावना हो….वो सेवा नही….
अगर सेवा करते वक़्त मन में नम्रता ना पनपे….वो सेवा नही….
अगर सेवा करने का कारण गुरु का सेवा-प्रसाद ही हो….वो सेवा नही….
अगर सेवा को मजबूरी की भावना से निभाया….वो भी सेवा नही….
सेवा तो करम काटने का जरिया है….
मन को विनम्र बनाने का जरिया है….
तन को चुस्त रखने का जरिया है….
मन में स्थिरता का माहौल पैदा करने का जरिया है….
सेवा ख़ुशी है….
सेवा अहसास है….
सेवा विश्वास है….
सेवा प्यार है….
सेवा से ही गुजरता मुक्ति का द्वार है….
बड़े भाग्यशाली हैं जिन्हें सेवा का मौका मिलता है…..
क्योंकि सेवा भी उसी को मिलती है….
जिनपे ईश्वर की कृपा होती है….
हम देखते हैं की जगह – जगह कई तरहा की सेवा में कुछ लोग बड़े प्रेम श्रद्धा और उत्साह से…..
चाहे दिन हो या रात…सर्दी हो या गर्मी….या बारिश….बस सेवा को ही अपना धर्म और
ईश्वर का हुक्म समझ के शिरोधार्य करते है….
दोस्तो….
ये सेवा भी…. सिर्फ विरलों को मिलती है….
विरलों से मतलब….
मन में सेवा भावना की प्रबल इच्छा….समर्पण….त्याग…
दिल दिमाग में किसी भी तरहा का गुरुर ना हो….नम्रता….शीतलता….
बिना मान बड़ाई के ईश्वर को अर्पित कर के…की गई लोगों की सेवा…
कभी व्यर्थ नही जाती….
Thnxx fr Reading….
Keep Smiling…Njoyy Life…..

This picture was submitted by Dipal Maru.

See More here: Badi badi baatein

Tag:

More Pictures

Leave a comment