Search

Nirjala Ekadashi Pictures, Graphics & Messages For Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram

एकादशी माता की पावन आरती के लिए ↓ यह लिंक पर क्लिक करे
Ekadashi Mata Ki Aarti

भगवान जगदीश्वर की आरती के लिए ↓ यह लिंक पर क्लिक करे
Bhagwan Jagdishwar Ki Aarti

निर्जला एकादशी शुभकामना इमेजेस

Shubh Nirjala Ekadashi Photo

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Shubh Nirjala Ekadashi PhotoDownload Image

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Nirjala Ekadashi Ki Hardik Badhai

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 18

Download Image
निर्जला एकादशी की हार्दिक बधाई

निर्जला एकादशी व्रत में क्या करें-
भगवान विष्णु की पूजा करें।
किसी भी स्थिति में पाप कर्म से बचें अर्थात पाप न करें।
माता पिता और गुरु का चरण स्पर्श करें।
श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करें।
श्री रामरक्ष स्तोत्र का पाठ करें।
श्री रामचरितमानस के अरण्यकाण्ड का पाठ करें।
धार्मिक पुस्तक का दान करें।
यह महीना गर्मी का होता है इसलिए प्याऊ की व्यवस्था करें।
अपने घर की छत पे पानी से भरा पात्र अवश्य रखें।
श्री कृष्ण की उपासना करें।

निर्जला एकादशी व्रत में क्या न करें-
अन्न किसी कीमत पे ग्रहण न करें।
निन्दा न करें।
माता पिता और गुरु का अपमान न करें।
घर में चावल न पकाएं।
गन्दगी मत होने दें।
दिन में मत सोएं।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Nirjala Ekadashi Ki Hardik Shubhkamna

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 26

Download Image

निर्जला एकादशी की हार्दिक शुभकामना

निर्जला एकादशी के उपाय

1. निर्जला एकादशी की शाम तुलसी के सामने गाय के घी का दीपक लगाए और ॐ वासुदेवाय नमः मंत्र बोलते हुए तुलसी की 11 परिक्रमा करें। इससे घर में सुख शांति बनी रहती है और संकट नहीं आता हैं।

2. निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु के मंदिर में एक नारियल व थोड़े बादाम चढ़ाएं। इस उपाय से जीवन में आर्थिक लाभ की प्राप्ति होती हैं व कार्यों में समस्त बाधाएं भी दूर हो जाती हैं।

3. निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु को पीले फूल अर्पित करें। इससे आपकी हर मनोकामना पूरी हो सकती हैं।

4. निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु को खीर में तुलसी के पत्ते डाल कर भोग लगाए। इससे घर में शांति बनी रहती हैं।

5. निर्जला एकादशी पर पीले रंग के फल, कपड़ें व अनाज भगवान विष्णु को अर्पित करें। बाद में ये सभी चीज़ें गरीबों को दान कर दें। View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shubh Nirjala Ekadashi

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 20

Download Image
शुभ निर्जला एकादशी

निर्जला एकादशी का महत्व

1. निर्जला एकादशी के व्रत से साल की सभी 24 एकादशियों के व्रत का फल प्राप्त होता है।
2. एकादशी व्रत से मिलने वाला पुण्य सभी तीर्थों और दानों से ज्यादा है। मात्र एक दिन बिना पानी के रहने से व्यक्ति के सभी पापों का नाश हो जाता है।
3. व्रती (व्रत करने वाला) मृत्यु के बाद यमलोक न जाकर भगवान के पुष्पक विमान से स्वर्ग को जाता है।
4. व्रती को स्वर्ण दान का फल मिलता है। हवन, यज्ञ करने पर अनगिनत फल पाता है। व्रती विष्णुधाम यानी वैकुण्ठ पाता है।
5. व्रती चारों पुरुषार्थ यानी धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष को प्राप्त करता है।
6. व्रत भंग दोष- शास्त्रों के मुताबिक अगर निर्जला एकादशी करने वाला व्रती, व्रत रखने पर भी भोजन में अन्न खाए, तो उसे चांडाल दोष लगता है और वह मृत्यु के बाद नरक में जाता है।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Nirjala Ekadashi Ki Hardik Shubh Kamna

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 15

Download Image
ॐ नमो भगवते वासुदेवाय
निर्जला एकादशी की हार्दिक शुभकामना

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shubh Nirjala Ekadashi

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 13

Download Image
शुभ निर्जला एकादशी

निर्जला एकादशी व्रत विधि
निर्जला एकादशी की सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद सबसे पहले शेषशायी भगवान विष्णु की पंचोपचार पूजा करें। इसके बाद मन को शांत रखते हुए ऊं नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करें। शाम को पुन: भगवान विष्णु की पूजा करें व रात में भजन कीर्तन करते हुए धरती पर विश्राम करें। दूसरे दिन (6 जून, मंगलवार) किसी योग्य ब्राह्मण को आमंत्रित कर उसे भोजन कराएं तथा जल से भरे कलश के ऊपर सफेद वस्त्र ढक कर और उस पर शर्करा (शक्कर) तथा दक्षिणा रखकर ब्राह्मण को दान दें।

इसके अलावा यथाशक्ति अन्न, वस्त्र, आसन, जूता, छतरी, पंखा तथा फल आदि का दान करना चाहिए। इसके बाद स्वयं भोजन करें। इस दिन विधिपूर्वक जल कलश का दान करने वालों को वर्ष भर की एकादशियों का फल प्राप्त होता है। इस एकादशी का व्रत करने से अन्य तेईस एकादशियों पर अन्न खाने का दोष छूट जाता है-
एवं य: कुरुते पूर्णा द्वादशीं पापनासिनीम् ।
सर्वपापविनिर्मुक्त: पदं गच्छन्त्यनामयम् ॥

इस प्रकार जो इस पवित्र एकादशी का व्रत करता है, वह समस्त पापों से मुक्त होकर मोक्ष प्राप्त करता है।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Nirjala Ekadashi Ki Shubh Kamna

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 15

Download Image
निर्जला एकादशी की शुभकामना

निर्जला एकादशी व्रत कथा
एक बार जब महर्षि वेदव्यास पांडवों को चारों पुरुषार्थ- धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष देने वाले एकादशी व्रत का संकल्प करा रहे थे। तब महाबली भीम ने उनसे कहा- पितामह। आपने प्रति पक्ष एक दिन के उपवास की बात कही है। मैं तो एक दिन क्या, एक समय भी भोजन के बगैर नहीं रह सकता- मेरे पेट में वृक नाम की जो अग्नि है, उसे शांत रखने के लिए मुझे कई लोगों के बराबर और कई बार भोजन करना पड़ता है। तो क्या अपनी उस भूख के कारण मैं एकादशी जैसे पुण्य व्रत से वंचित रह जाऊंगा?

तब महर्षि वेदव्यास ने भीम से कहा- कुंतीनंदन भीम ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की निर्जला नाम की एक ही एकादशी का व्रत करो और तुम्हें वर्ष की समस्त एकादशियों का फल प्राप्त होगा। नि:संदेह तुम इस लोक में सुख, यश और मोक्ष प्राप्त करोगे। यह सुनकर भीमसेन भी निर्जला एकादशी का विधिवत व्रत करने को सहमत हो गए और समय आने पर यह व्रत पूर्ण भी किया। इसलिए वर्ष भर की एकादशियों का पुण्य लाभ देने वाली इस श्रेष्ठ निर्जला एकादशी को पांडव एकादशी या भीमसेनी एकादशी भी कहा जाता है।

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shubh Nirjala Ekadashi

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Image
शुभ निर्जला एकादशी????????

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shubh Nirjala Ekadashi

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Image
शुभ निर्जला एकादशी

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Nirjala Ekadashi Ki Hardik Shubhkamna Aur Badhai

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 18

Download Image

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Sub Categories :