Suprabhata!


सुप्रभात!
गम ना कर ज़िंदगी बहुत बड़ी है,
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है,
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख,
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है.

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

    None Found

2 Responses on “Suprabhata!”

सुरेश शेटे says:

फार सुंदर

आपले आभार 🙂

Leave a comment