Aaj Bhi Yaad Hai Eid Ki Wo Har Ek Raat


बचपन में मिलते थे पूरे रमजान,
अम्मी की दी सेहरी से करते थे शुरूआत,
धूम धड़का होता था दोस्तों के साथ,
आज भी याद हैं ईद की वो हर इक रात.
ईद मुबारक

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

  • Eid Mubarak Shayari

Leave a comment