Nindak Niyare Rakhiye, Aangan Kuti Chhavay

Download Image
निंदक नियरे राखिए, ऑंगन कुटी छवाय,
बिन पानी, साबुन बिना, निर्मल करे सुभाय।

अर्थ :
जो हमारी निंदा करता है, उसे अपने अधिकाधिक पास ही रखना चाहिए। वह तो बिना साबुन और पानी के हमारी कमियां बता कर हमारे स्वभाव को साफ़ करता है.

This picture was submitted by Smita Haldankar.

More Pictures

    None Found

Leave a comment