Search

Sant Kabirdasji Ke Dohe Arth Sahit Pictures, Graphics & Messages For Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram

Jaisa Bhojan Khayiye, Taisa Hi Man Hoy

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 20
Jaisa Bhojan Khayiye, Taisa Hi Man Hoy Download Image

जैसा भोजन खाइये , तैसा ही मन होय । जैसा पानी पीजिये, तैसी वाणी होय ॥ अर्थ : शुद्ध-सात्विक आहार तथा पवित्र जल से मन और वाणी पवित्र होते हैं। अर्थात, जो जैसी संगति करता है वैसा ही बन जाता है। This picture was submitted by Smita Haldankar.

Contributor:

Jaha Na Jako Gun Lahe, Taha Na Tako Thav

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 20
Jaha Na Jako Gun Lahe, Taha Na Tako Thav Download Image

जहाँ न जाको गुन लहै, तहाँ न ताको ठाँव । धोबी बसके क्या करे, दीगम्बर के गाँव ॥ अर्थ : जहाँ पर आपकी योग्यता और गुणों का प्रयोग नहीं होता, वहाँ आपका रहना बेकार है। उदाहरण के लिए, ऐसी जगह धोबी का क्या काम, जहाँ पर लोगों के पास पहनने को कपड़े नहीं हैं। This […]

Contributor:

Hari Ras Piya Janiye, Kabahu Na Jaye Khumar

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 15
Hari Ras Piya Janiye, Kabahu Na Jaye Khumar Download Image

हरि रस पीया जानिये, कबहू न जाए खुमार । मैमता घूमत फिरे, नाही तन की सार ॥ अर्थ : जिस व्यक्ति ने परमात्मा के अमृत को चख लिया हो, वह सारा समय उसी नशे में मस्त रहता है। उसे न अपने शरीर कि, न ही रूप और भेष कि चिंता रहती है। This picture was […]

Contributor:

Jaha Daya Taha Dharm Hai, Jaha Lobh Taha Pap

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 15
Jaha Daya Taha Dharm Hai, Jaha Lobh Taha Pap Download Image

जहाँ दया तहाँ धर्म है,जहाँ लोभ तहाँ पाप । जहाँ क्रोध तहाँ पाप है, जहाँ क्षमा तहाँ आप ॥ अर्थ : जहाँ दया-भाव है, वहाँ धर्म-व्यवहार होता है। जहाँ लालच और क्रोध है वहाँ पाप बसता है। जहाँ क्षमा और सहानुभूति होती है, वहाँ भगवान् रहते हैं। This picture was submitted by Smita Haldankar.

Contributor:

Jag Me Bairi Koi Nahi, Jo Man Shital Hoy

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 15
Jag Me Bairi Koi Nahi, Jo Man Shital Hoy Download Image

जग में बैरी कोई नहीं , जो मन शीतल होय | यह आपा तो डाल दे , दया करे सब कोए || अर्थ : आपके मन में यदि शीतलता है, अर्थात दया और सहानुभूति है, तो संसार में आपकी किसी से शत्रुता नहीं हो सकती। इसलिए अपने अहंकार को निकाल बाहर करें, और आप अपने […]

Contributor:

Daya Bhav Hrdaya Nahi, Gyan Thake Behad

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 15
Daya Bhav Hrdaya Nahi, Gyan Thake Behad Download Image

दया भाव ह्रदय नहीं , ज्ञान थके बेहद | ते नर नरक ही जायेंगे , सुनी सुनी साखी शब्द || अर्थ : कुछ लोगों में न दया होती है और न हमदर्दी, मगर वे दूसरों को उपदेश देने में माहिर होते हैं। ऐसे व्यक्ति, और उनका निरर्थक ज्ञान नर्क को प्राप्त होता है। This picture […]

Contributor:

Chinta Aisi Dakini, Kat Kaleja Khay

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10
Chinta Aisi Dakini, Kat Kaleja Khay Download Image

चिंता ऐसी डाकिनी, काट कलेजा खाए । वैद बेचारा क्या करे, कहा तक दवा लगाए ॥ अर्थ : चिंता एक ऐसी चोर है जो सेहत चुरा लेती है। चिंता और व्याकुलता से पीड़ित व्यक्ति का कोई इलाज नहीं कर सकता। This picture was submitted by Smita Haldankar.

Contributor:

Chidiya Chonch Bhari Le Gayi, Ghatyo Na Nadi Ko Neer

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10
Chidiya Chonch Bhari Le Gayi, Ghatyo Na Nadi Ko Neer Download Image

चिड़िया चोंच भरि ले गई, घट्यो न नदी को नीर । दान दिये धन ना घटे, कहि गये दास कबीर ॥ अर्थ : जिस तरह चिड़िया के चोंच भर पानी ले जाने से नदी के जल में कोई कमी नहीं आती, उसी तरह जरूरतमंद को दान देने से किसी के धन में कोई कमी नहीं […]

Contributor:

Guru Govind Dono Khade, Kake Lagu Pay

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10
Guru Govind Dono Khade, Kake Lagu Pay Download Image

गुरु गोविंद दोनों खड़े, काके लागूं पाँय । बलिहारी गुरु आपनो, गोविंद दियो मिलाय ॥ अर्थ : यदि गुरु और ईश्वर, दोनों साथ में खड़े हों, तो किसे पहले प्रणाम करना चाहिए? कबीर कहते हैं, गुरु का स्थान ईश्वर से भी ऊपर है, क्योंकि गुरु की शिक्षा के कारण ही भगवान् के दर्शन होते हैं […]

Contributor:

Chali Jo Putali Laun Ki, Thah Saindhu Ka Len

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10
Chali Jo Putali Laun Ki, Thah Saindhu Ka Len Download Image

चली जो पुतली लौन की, थाह सिंधु का लेन । आपहू गली पानी भई, उलटी काहे को बैन ॥ अर्थ : जब नमक सागर की गहराई मापने गया, तो खुद ही उस खारे पानी मे मिल गया। इस उदाहरण से कबीर भगवान् की विशालता को दर्शाते हैं। जब कोई सच्ची आस्था से भगवान् खोजता है, […]

Contributor: