Search

Aarti Pictures, Graphics & Messages For Facebook, Whatsapp, Pinterest, Instagram

Aarti Sangrah (आरती संग्रह)

Shri Jagdishwar Ki Aarti

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Shri Jagdishwar Ki AartiDownload Image
ॐ जय जगदीश हरे, भगवान जगदीश की आरती

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी ! जय जगदीश हरे।

भक्त जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

ॐ जय जगदीश हरे।

जो ध्यावे फल पावे, दुःख विनसे मन का।

स्वामी दुःख विनसे मन का।

सुख सम्पत्ति घर आवे, कष्ट मिटे तन का॥

ॐ जय जगदीश हरे।

मात-पिता तुम मेरे, शरण गहूँ मैं किसकी।

स्वामी शरण गहूँ मैं किसकी।

तुम बिन और न दूजा, आस करूँ जिसकी॥
View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Jai Saraswati Mata Aarti Video Lyrics

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5


Lyrics: जय सरस्वती माता
जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |
सद्गुण वैभव शालिनी,त्रिभुवन विख्यात ||

जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |
चंद्रवदनी पद्मासिनी,धुति मंगलकारी, मैया धुति मंगलकारी |
सोहे शुभ हंस सवारी अतुल तेजधारी ॥
जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |

बाएँ कर मे विणा,दाएँ कर माला, मैया दाएँ कर माला |
शीश मुकुट मणि सोहे,गल मोतियन माला ॥
जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |

देवी शरण जो आए,उनका उद्धार किया, मैया उनका उद्धार किया |
पैठी मंथरा दासी,रावण संहार किया ॥
जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |

विद्या ज्ञान प्रदायिनी ज्ञान प्रकाश भरो, मैया ज्ञान प्रकाश भरो |
मोह अज्ञान और तिमिर का जग से नाश करो ||
जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |

धूप-दीप फल मेवा माँ स्वीकार करो , मैया माँ स्वीकार करो |
ज्ञानचक्षु दे माता जग निस्तार करो ||
जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |

माँ सरस्वती की आरती जो कोई जन गावे, मैया जो कोई जन गावे |
हितकारी सुख कारी ज्ञान भक्ति पावे ॥
जय सरस्वती माता मैया जय सरस्वती माता |

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Vishwakarma Ji Ki Aarti Lyrics In Hindi

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 5

Vishwakarma Ji Ki Aarti Lyrics In HindiDownload Imageૐ जय श्री विश्वकर्मा भगवान जी की आरती

ॐ जय श्री विश्वकर्मा, प्रभु जय श्री विश्वकर्मा।
सकल सृष्टि के कर्ता, रक्षक श्रुति धर्मा॥ ॐ जय…

आदि सृष्टि में विधि को श्रुति उपदेश दिया।
जीव मात्रा का जग में, ज्ञान विकास किया॥ ॐ जय…

ऋषि अंगिरा ने तप से, शांति नहीं पाई।
ध्यान किया जब प्रभु का, सकल सिद्धि आई॥ ॐ जय…

रोग ग्रस्त राजा ने, जब आश्रय लीना।
संकट मोचन बनकर, दूर दुःख कीना॥ ॐ जय…

जब रथकार दंपति, तुम्हरी टेर करी।
सुनकर दीन प्रार्थना, विपत हरी सगरी॥ ॐ जय…

एकानन चतुरानन, पंचानन राजे।
त्रिभुज चतुर्भुज दशभुज, सकल रूप सजे॥ ॐ जय…

ध्यान धरे जब पद का, सकल सिद्धि आवे।
मन दुविधा मिट जावे, अटल शक्ति पावे॥ ॐ जय…

“श्री विश्वकर्मा जी” की आरती, जो कोई नर गावे।
कहत गजानंद स्वामी, सुख संपति पावे॥ ॐ जय…

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Mangala Gauri Mata Ji Ki Aarti

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Imageमां मंगला गौरी आरती

जय मंगला गौरी माता, जय मंगला गौरी माता
ब्रह्मा सनातन देवी शुभ फल कदा दाता।
जय मंगला गौरी माता, जय मंगला गौरी माता।।

अरिकुल पद्मा विनासनी जय सेवक त्राता
जग जीवन जगदम्बा हरिहर गुण गाता।
जय मंगला गौरी माता, जय मंगला गौरी माता।।

View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

AARTI SHRI SAI BABA KI

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Image

आरती श्री साई बाबा की

आरती श्री साई गुरुवर की, परमानंद सदा गुरुवर की |
जाकी कृपा विपुल सुखकारी, दु:ख शोक संकट भयहारी |
शिरडी में अवतार रचाया, चमत्कार से तत्व दिखाया |
कितने भक्त शरण में आये, वे सुख शंति निरंतर पाये | View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Shri Ganga Mata Ji Ki Aarti

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 20

Download Image

श्री गंगा माता की आरती

ॐ जय गंगे माता, श्री गंगे माता
जो नर तुमको ध्यावता, मनवंछित फल पाता |
ॐ जय गंगे माता

चन्द्र सी ज्योत तुम्हारी जल निर्मल आता |
शरण पड़े जो तेरी, सो नर तर जाता |
ॐ जय गंगे माता

पुत्र सगर के तारे सब जग को ज्ञाता |
कृपा दृष्टि तुम्हारी, त्रिभुवन सुख दाता |
ॐ जय गंगे माता

एक ही बार भी जो नर तेरी शरणगति आता |
यम की त्रास मिटा कर, परम गति पाता |
ॐ जय गंगे माता

आरती मात तुम्हारी जो जन नित्य गाता |
दास वही जो सहज में मुक्ति को पाता |
ॐ जय गंगे माता, श्री गंगे माता |

श्री गंगा चालीसा के लिए ↓ यह लिंक पर क्लिक करे
Shri Ganga Chalisa In Hindi

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Marutichi Aarti Lyrics

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 20

Download Image

मारुतीची आरती

सत्राणें उड्डाणें हुंकार वदनीं ।
करि डळमळ भूमंडळ सिंधूजळ गगनीं ।
कडाडिलें ब्रह्मांड धाके त्रिभुवनिं ।
सुरवर नर निशाचर त्या झाल्या पळणी ॥ १ ॥
जय देव जय देव जय श्री हनुमंता ।
तुमचेनी प्रसादें न भियें कृतांता ।
जय देव जय देव ॥ धृ. ॥
दुमदुमलें पाताळ उठिला प्रतिशब्द ।
थरथरल्या धरणीवर मानिला खेद ।
कडकडिले पर्वत उड्डुगण उच्छेद ।
रामीं रामदासा शक्तीचा शोध ॥ २ ॥
जय देव जय देव जय श्री हनुमंता ।
तुमचेनी प्रसादें न भियें कृतांता ।
जय देव जय देव ॥

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Aarti – Om Jai Sanmati Deva

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Image

आरती: श्री महावीर भगवान | जय सन्मति देवा

जय सन्मति देवा, प्रभु जय सन्मति देवा।
वर्द्धमान महावीर वीर अति, जय संकट छेवा॥
ऊँ जय सन्मति देवा ॥

सिद्धार्थ नृप नन्द दुलारे, त्रिशला के जाये।
कुण्डलपुर अवतार लिया, प्रभु सुर नर हर्षाये॥
ऊँ जय सन्मति देवा ॥ View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Aarti – Om Jai Mahavir Prabhu

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Image

आरती: ॐ जय महावीर प्रभु

ॐ जय महावीर प्रभु, स्वामी जय महावीर प्रभो।
जगनायक सुखदायक, अति गम्भीर प्रभो॥
ॐ जय महावीर प्रभु॥

कुण्डलपुर में जन्में, त्रिशला के जाये।
पिता सिद्धार्थ राजा, सुर नर हर्षाए॥
ॐ जय महावीर प्रभु॥ View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor:

Aarti – Om Jai Mahavir Prabhu

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars 10

Download Image

आरती: ॐ जय महावीर प्रभु!

ॐ जय महावीर प्रभु, स्वामी जय महावीर प्रभु।
कुण्डलपुर अवतारी, चांदनपुर अवतारी, त्रिशलानंद विभु॥

सिध्धारथ घर जन्मे, वैभव था भारी।
बाल ब्रह्मचारी व्रत, पाल्यो तप धारी॥
ॐ जय महावीर प्रभु॥ View More

This picture was submitted by Smita Haldankar.

HTML Embed Code
BB Code for forums

Contributor: