Maa Mahagauri Ji Ki Aarti


माँ दुर्गा की आठवीं शक्ति का नाम महागौरी है !
 इनका वर्ण पूर्णतः गौर है !
इस गौरता की उपमा शंख, चन्द्र और
कुंद के फूल से दी गई है ! इनकी आयु
आठ वर्ष की मानी गई है ! इनके समस्त
वस्त्र एवं आभूषण आदि भी श्वेत है !
ये मनुष्य की वृत्तियों को सत की ओर
प्रेरित करके असत का विनाश करती हैं !
भगवती देवी माँ महागौरी
के श्री चरणों में सत सत नमन !

महागौरी की आरती

जय महागौरी जगत की माया
जय उमा भवानी जय महामाया

हरिद्वार कनखल के पास
महागौरी तेरा वहा निवास

चंदेर्काली और ममता अम्बे
जय शक्ति जय जय माँ जगदम्बे

भीमा देवी विमला माता
कोशकी देवी जग विखियाता

हिमाचल के घर गोरी रूप तेरा
महाकाली दुर्गा है स्वरूप तेरा

सती ‘सत’ हवं कुंड मै था जलाया
उसी धुएं ने रूप काली बनाया

बना धर्म सिंह जो सवारी मै आया
तो शंकर ने त्रिशूल अपना दिखाया

तभी माँ ने महागौरी नाम पाया
शरण आने वाले का संकट मिटाया

शनिवार को तेरी पूजा जो करता
माँ बिगड़ा हुआ काम उसका सुधरता

‘चमन’ बोलो तो सोच तुम क्या रहे हो
महागौरी माँ तेरी हरदम ही जय हो

माँ सिद्धिदात्री मंत्र
या देवी सर्वभू‍तेषु माँ सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
सिद्ध गन्धर्व यक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि। 
सेव्यमाना सदा भूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायिनी॥

This picture was submitted by Smita Haldankar.

See More here: Aarti

Tag:

More Pictures

Leave a comment